सन 2011 में जब रामलीला मैदान में अन्ना हज़ारे का अनशन चल रहा था लोकपाल विधेयक के लिये
तब कौन जानता था कि इस आंदोलन से निकले चेहरे दूर तक जाएंगे
अन्ना हजारे की एक हुंकार पे कई नौजवान उठ खड़े हुए
1. जिनमे अरविंद केजरीवाल प्रमुख है
आई आई टी खड़गपुर से ग्रेड्यूट करने के बाद और
आयकर विभाग से सेवानिवर्ती लेने के बाद इन्होंने अपना सामाजिक कैरियर शुरू किया
सूचना का अधिकार कानून के लिए इन्होने काफी कार्य किया
सन 2006 में इन्हें सामाजिक कार्यो के लिये रमन मेग्नेसे पुरस्कार से सम्मानित किया
सन 2011 में अन्ना के आंदोलन के बाद 2012 में इन्होंने आम आदमी पार्टी का गठन किया
जिसने 70 में से दिल्ली विधानसभा की 65 सीटें जीती
जिसकी सरकार में अरविंद केजरीवाल ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली ।

2)किरण बेदी
दिल्ली की सुपर कॉप किरण बेदी को कौन नहीं जानता
पंजाब यूनिवर्सिटी से पढ़ने के बाद किरण बेदी भारतीय पुलिस सेवा में शामिल हुई

2007 में अपने पद से स्वेच्छीक सेवनिर्वती के बाद इन्होंने अपने सामाजिक जीवन मे कई कार्य किये
सन 2011 में अन्ना आंदोलन में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई
आजकल ये पॉन्डिचेरी की उपराज्यपाल है

3 अगला चर्चित चेहरा कुमार विश्वास है
एक इंजीनियर से कवि बनने का और कवि से राजनेता बनने का सफर काफी रोचक रहा
कॉलेज के दिनों में कुमार विश्वास को कविता का काफा शौक था इसी शौक ने उन्हें काफी चर्चा दिलाई
कविताओं से निकलकर कुमार विश्वास ने अन्ना का आंदोलन में भाग लिया फिर उन्होंने अरविंद केजरीवाल के साथ आम आदमी पार्टी में शामिल हुए
कई विवादों के बाद भी आज नही कुमार विश्वास आम आदमी पार्टी में बने हुए है
4 संतोष हेगडे
ये पूर्व न्यायधीश  रहे हैं। वर्तमान में ये कर्नाटक में लोकायुक्त है तथा हाल में ही गठित जन-लोकपाल विधेयक निर्मात्री समिति के सदस्य भी हैं।

5 प्रशांत भूषण
भारतीय उच्च न्यायालय के अभिव्यक्ता रहे है
उन्हे भ्रष्टाचार, विशेष रूप से न्यायपालिका के  भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ आंदोलन के लिए जाना जाता हैं। अन्ना  द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ किए गए संघर्ष में वे उनकी टीम के प्रमुख सहयोगी रहे हैं ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here