1 महीने की नौकरी में भी मौत हो जाए तो PF नॉमिनी को हर माह मिलती है पेंशन नौकरी करते हुए किसी employee की अचानक मौत हो जाती है, तो EPFO उसका बड़ा सहारा बन सकता है. ऐसा होने पर यदि किसी employee ने 1 माह भी जॉब की है, और उसकी डेथ हो जाती है तो उनके उत्तराधिकारी (नॉमिनी) को पेंशन मिलेगी. EPFO के प्रवक्ता शिवेंद्र खम्परिया ने बताया कि यह पेंशन संबंधित कर्मचारी की सैलरी के हिसाब से तय होती है.

इसके अलावा दो बच्चों को पेंशन का 25 प्रतिशत अमाउंट हर माह मिलता है. बच्चों को यह पैसा 25 साल की उम्र होने तक मिलता है. नॉमिनी को 6 लाख रुपए का बीमा क्लेम भी मिलता है. दो महीने तक बेरोजगार होने पर EPFO सब्सक्राइबर अपना EPF फंड निकाल सकते हैं.

कोई भी इम्प्लॉई यदि 5 साल या इससे ज्यादा तक पीएफ कटवाता है तो फिर उसे फंड निकालने पर इनकम टैक्स नहीं देना होता.

कोई भी इम्प्लॉई यदि 5 साल या इससे ज्यादा तक पीएफ कटवाता है, तो फिर उसे फंड निकालने पर इनकम टैक्स नहीं देना होता. हेल्थ प्रॉब्लम या एम्प्लॉयर द्वारा बिजनेस बंद करने से किसी की नौकरी जाती है, तो भी फंड निकालने पर कोई टैक्स नहीं देना होता.

घर खरीदने  या construction करवाने, मेडिकल Treatment , खुद की या फैमिली मेम्बर्स की शादी के लिए Advanced  PF फण्ड निकाला जा सकता है. जानकारी यह है की सरकार सरकारी कर्मचारियों के साथ साथ उनके परिवार की भी देख रेख मे लगी हुई है. इससे सभी लोगो को एक नयी खुशी मिलेगी जो ये सोचते है उनकी अगर किसी कारणवश उनकी मौत हो जाती तो उनके परिवार का खर्च कैसे चलेगा, उनकी देखभाल कौन करेगा?

एक तरह से कहा जाये तो भारत सरकार के इस अभूतपूर्ण कदम से सभी के चेहरे पे मुस्कान होगी और हो क्यों ना हो आखिर होली से पहले उन्हें तोहफा जो मिल गया है. एक नयी उर्जा के साथ अपने जीवन मे रह सकेंगे. इन्ही आशावादी कार्यों के प्रति हमारी भारत सरकार काम करती रहे ताकि आने वाले भविष्य मे लोगो के जीवन उल्लास से भरे रहे.

भविष्य के इस निर्धारित लक्ष्य पर सरकार के इस फैसले की सभी सराहना तो कर रहे हैं और साथ ही साथ अपनी चिन्ताओ से भी लोगो को राहत मिल रही है.एक और कदम भारत की समृधि की और एक और कदम भारत को विकाशसील देश को ले जाने की ओर. अंत मे मै एक वाक्य मै जोड़ना चाहूँगा सब बढ़े बढ़ते रहे देश खुद बा खुद आगे बढ़ता रहेगा.

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here