200 क्विंटल तेल से बना मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड

0
754
200 क्विंटल तेल से बना मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड
200 क्विंटल तेल से बना मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड
मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड
मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड

मध्यप्रदेश के मंदसौर के गांव आकोदड़ा में मगरा माता मंदिर में 11 लाख 11 हजार 111 दीपो को एक साथ जलाया गया. इसके बाद गोल्डन बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम लिखवा दिया. मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड से पहले ये रिकॉर्ड 3 लाख 60 दीपों को जलाने का था ये रिकॉर्ड छत्तीसगढ़ सरकार के नाम पर था. मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड में आकोदड़ा के मगरा माता मंदिर पर सात दिनो से चल रही कथा का रविवार 8 अप्रैल को ख़तम हुई. दोपहर में 2 से 3 बजे तक धर्म सम्मेलन चला. फिर दिव्यानंदजी महाराज (झारखंड), नानकराम महाराज, श्यामदास महाराज सहित कई संतों और महात्माओं ने प्रवचन दिए, दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक 11 हजार कन्याओं का पूजन, ज्योति पूजन तथा गौ पूजन हुआ, शाम 6 बजे गाने और बाजों के साथ मंदिर में ज्योति यात्रा भी निकाली गयी थी.

कबसे चल रही थी तैयारियां

मध्य प्रदेश के मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड मगरा माता मंदिर पर बना. बताया जा रहा है कि मंदसौर के मगरा माता स्थित प्राचीन महाकाली मंदिर के पुजारी मधुसूदन शात्री के लम्बे प्रयासों के बाद मंदिर में 11 लाख 11 हजार 111 दीपो का दीपदान करवाया गया. मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए तैयारियां पिछले 6 महीने से चल रही थी. प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष नन्दकुमार सिंह चौहान ने माता मंदिर पहुंचकर पहला दीप जलाया. बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष ने संतों के साथ दीपों को प्रज्वलित कर गोल्डन बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में मध्यप्रदेश के मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड के नाम से दर्ज किया.

क्या रहा इस रिकॉर्ड में खास

मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड
मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड

यह आयोजन 40बीघा जमीन पर हुआ जिसमे 11लाख 11 हजार दीपक जलाए इसमें 50 गांव के 25 हजार लोगों ने दीपक जलाये और इस मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड में साथ निभाया करीब पिछले 6 महीने से ये सोच के रखा था की हम कुछ ऐसा करेंगें इस मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए 45 दिन से जोर शोर से चल रही थी तैयारीयां इस दीप प्रज्वलन कार्यक्रम के लिए 200 क्विंटल तेल का उपयोग हुआ 9 किमी लंबी चुनरी यात्रा व दीपक जलाने का आयोजन ‘गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकाॅर्ड’ में दर्ज किया जा चूका है. लोगो की संख्या इतनी अधिक थी की 16 किमी तक वाहनों की कतार लगी थी और मंदिर से 2 किमी दूर पार्किंग जोन बनाया गया था. इसमें 25 हजार लोगों ने इस मंदसौर वर्ल्ड रिकॉर्ड में भाग लिया.

आकोदड़ा मगरा माता मंदिर

यह माता जी के मंदिर में आने वाले हर एक भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण होती है और माता रानी के दर्शन मात्र से मिर्गी लकवा जैसी अनेक बीमारियां दूर होती है आसपास के क्षेत्र से अधिकांश लोग यहां पर दर्शन करने आते हैं यह स्थान मंदसौर जिले के 25 किलोमीटर दूर दलौदा तहसील के अंतर्गत स्थान आकोदड़ा गांव है जहां पर ऐसी माता रानी विराजमान है जिसके दर्शन मात्र से अनेकों मनोकामना पूर्ण होती हैं.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here