शादी से पहले और शादी के बाद के संबधों में बहुत फर्क होता है, शादी के पहले लड़का हो या लड़की अपने व्यक्तिगत जीवन के लिए किसी और के लिए जवाबदार नहीं होते. लेकिन शादी के बाद हो जाते हैं क्योंकि उस रिश्ते के लिहाज से ये जरुरी भी होता है. दो लोगों के बिच का रिश्ता ईमानदारी के आधार पर ही आगे बढ़ता है, जहाँ एक में भी धोकेबाजी का ख्याल आया रिश्ता बिगड़ जाता है.

Image result for cheating wife

आज हम बात करने वाले है उन कारणों के बारे में की आखिर कोई लड़की शादी के पहले अच्छी सोच रखने वाली होने के बाद भी शादी के बाद नाजायज संबंधो की तरफ क्यों देखने लगती है? ये वो कारण हैं जो आपको मदद करेंगे किसी वजह तक पहुँचने में और सही निष्कर्ष निकलने में.

अनियंत्रित सोच

जब ख्यालों में ही हम अपने और अपने पार्टनर के बिच किसी तीसरे के लिए जगह बना लेते हैं तो उसका हमारी लाइफ में आना पक्का हो जाता है. सबसे पहला कारण ये सोच है की ये गलत नही हैं.

अगर आपको लगता है की पति या बॉयफ्रेंड के होते हुए किसी तीसरे के साथ एक रात या एक दिन या कुछ दिन के लिए शारीरिक सम्बन्ध बनाना गलत नही है तो आपको समझ लेना चाहिए की आपकी सोच आपको नाजायज संबंधो के लिए मजबूर कर रही है.

स्टेटस सिम्बल

ऊपर बताई गई सोच की विकृति वाली कई महिलाऐं एक साथ जुड़ जाती है तो उनके बिच यही खराबी एक स्टेटस सिम्बल बन जाता है. चूँकि जलन महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा पाई जाने वाली मानसिक बीमारी है, और इस स्तर पर उन्हे सही गलत का ख्याल नही होता, सिवाए इसके की कौन दुसरे से बेहतर है.

इस हाई लेवल सोसाइटी में महिलाऐं अपने पीछे पड़े मर्दों की गिनती के आधार पर अपनी खूबसूरती और अदाओं की तारीफ करवाती हैं. सो उनके लिए ये बहुत आसान है की किसी भी समय किसी को भी अपने बेडरूम में बुला लें और उसकी मेहनत का मीठा फल दे दें.

पार्टनर से संतुष्ट नही होना

महिलाऐं केवल भृष्ट होने के लिए नहीं बनी, उनके गलत क़दमों के पीछे कुछ कारण पुरुषों के बनाए भी होते हैं. जब औरत अपने साथी से संतुष्ट नही होती तो उसे किसी और से उम्मीद लग जाती है. सही मायनों में सिर्फ शारीरिक नही बल्कि मानसिक संतुष्टि भी उतनी ही जरुरी है.

यदि आप अपने पार्टनर को खुश रहने और हंसने के मौके नही दे रहे तो जान लीजिए की ये काम जो भी करेगा उसे ही आपके पार्टनर का प्यार और लगाव मिलेगा.

एक तरफ़ा सम्भोग

कुछ पुरुषों में शोर्ट sex मतलब जल्दी वाला सम्भोग करने की आदत पड़ जाती है, जिसके कारण उनकी पत्नी पूरा आनंद नही लेती और ये सम्भोग एक तरफ़ा हो जाता है. पुरुष के वीर्य त्याग के बाद वो अनैक्षिक हो जाता है और महिला बिच में ही छूटे अधूरे सफ़र की तकलीफ झेलती रहती है.

सम्भोग दोनों के आनंद का विषय है, और दोनों पार्टनर्स को एक दूसरे की ख़ुशी और सुकून के साथ कम्फर्ट का ध्यान रखना चाहिए.

अकेलापन

किसी भी औरत को शादी के बाद का अकेलापन बहुत भारी पड़ता है. शरीर के साथ मन भी अपने पार्टनर का साथ चाहता है. अकेलापन किसी दुसरे साथी की तरफ जाने के लिए मजबूर करता है. पर यहाँ अकेलापन किसी एक की गलती नही हैं, लेकिन अगर औरत अकेली है तो उसे अपने उन लोगों की तरफ खिचाव होता है जो उसे किसी समय ख़ुशी दे चुके हैं.

प्यार एक शारीरिक से ज्यादा मानसिक रिश्ता है, दोनों के बिच बातचीत के साथ हसी मजाक और चुटकी बनी रहना जरुरी है.

पति की बेवफाई

जब एक पार्टनर उसके होते हुए दुसरे की तरफ जाता है तो महिला को पुरुष की तरह ही अपना अपमान लगता है, और बेइज्जती का बदला लेने वो भी वैसा ही करने के लिए तैयार हो जाती है जैसा उसके पार्टनर ने किआ है. अगर उसे ये पता लग जाए की उसके पार्टनर ने किसी के साथ जिस्मानी रिश्ते बनाए है तो वो भी किसी नए मर्द के साथ और किसी पुराने दोस्त के साथ हमबिस्तर हो सकती है.

बेहतर ये होगा की एक साथी के साथ ही सारे सुख लेने की आदत डाले. अपने बेडरूम में नए एक्सपेरिमेंट करें नए तरीके आजमाएँ एक दुसरे को प्यार करने के और इन तरीकों की संख्या कम न होने दें.

बड़ी उम्र का पति

अक्सर ऐसा होता है की एक बड़ी उम्र का पति होने से लड़की का शरीर पूरी तरह संतुष्ट नही हो पता. हालाकि इस बात के बहुत ज्यादा सबूत नही है की उम्र से शारीरिक संबंधों पर ऐसा फर्क पड़ता है, क्योंकि शादी करते समय उम्र का पहलू ध्यान से देखा जाता है और 5 से 10 साल का फर्क कोई बहुत ज्यादा कमी पैदा नही करता. क्योंकि पुरुष काफी लम्बी उम्र तक सेक्सुअल हारमोंस की प्रोडक्टिविटी रखते हैं.

किसी दुसरे के साथ सोने से पहले अपने पार्टनर के साथ सारी कोशिशे कर ली जाए, क्योंकि हो सकता है जो कमी आपको लगती हो वो वाकई में हो ही नही, या बहुत छोटी हो और उसको जल्द ही सुधार जा सकता है.

गर्भ निरोधक सुविधाएँ

इन सुविधाओं ने महिलाओं को नाजायज संबंधो के लिए आजाद बना दिया है. जब खतरों का कोई डर नही होता तो कोई भी हो लापरवाह हो जाता है, और यही लापरवाही रिश्तों में गलत रस्ते पर ले जाती है. जब गर्भ ठहरने का कोई डर नही तो sex करने से परहेज क्यों होगा, क्योंकि अगर महिला मानसिक रूप से तैयार हो गई तो फिर बाकि कुछ नही रहा.

महिला हो या पुरुष उसने किसी और के साथ जिस्मानी सम्बन्ध बनाना जायज मान लिया तो उसे कोई सही गलत नज़र नही आएगा. इसलिए अगर आपको इनमे से कोई एक भी कारण होता हुआ समझ आए तो तुरंत उसका समाधान करना शुरु कर देना चाहिए.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here