आखिर लता मंगेशकर ने क्यूँ नहीं की शादी जानिए उनकी जुबानीसबसे पहले लता मंगेशकर को जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाये. आज उनकी कुछ ऐसी बातें आप सबको बताने जा रहे है. लता मंगेशकर ने शादी क्यूँ नहीं की ?. इसका जवाब वो खुद देती है. आखिर ऐसा क्या हुआ, की लता मंगेशकर ने शादी क्यूँ नहीं की. लता मंगेशकर खुद ही कहती है “दरअसल घर की पूरी जिम्मेदारी मुझपर थी. ऐसे में शादी का ख्याल आता भी तो उसपर अमल नहीं कर सकती थी.”

लता मंगेशकर का आगे कहना था “बेहद कम उम्र में ही काम करने लगी थी”. आखिर ये है वो कारण जिसकी वजह से लता मंगेशकर ने शादी नहीं की. उन्होंने इससे आगे कहा “ बहुत अधिक काम था उनके पास”. लता मंगेशकर का कहना था “सोचा पहले छोटे भाई बहनों का पालन पोषण कर लू फिर कुछ सोचा जाएगा”. फिर उनका कहना था बहन की शादी हो गई,बच्चे हो गए. फिर उनकी देख-रेख में सारा समय निकल जाता.

किशोर दा से कैसे मिली लता मंगेशकर ?

लता मंगेशकर ने आगे की बातें बताई “40 के दशक में जब मैंने गाना शुरू किया था”. तब में लोकल ट्रेन पकड़कर मलाड जाती थी. वहां से उतरकर लता मंगेशकर स्टूडियो बॉम्बे पैदल टॉकीज जाती थी. रास्ते में लता से किशोर दा भी मिलते, लेकिन लता मंगेशकर किशोर दा को और किशोर दा लता को नहीं पहचानते थे. लता कहती है किशोर दा उनकी तरफ देखकर हँसते रहते. कभी-कभी हाथ में पकड़ी छड़ी किशोर दा घुमाते रहते. लता मंगेशकर जी  कहती है,उनको किशोर दा की हरकते अजीब सी लगती थी.

तब लता मंगेशकर जी  खेमचंद प्रकाश की एक फिल्म में गाना गा रही थी. लता मंगेशकर जी बताती है एक दिन की बात है, किशोर दा स्टूडियो तक पहुंच गए. फिर क्या था लता जी ने खेमचंद से किशोर डा के बारे में शिकायत की किशोर दा उनका पीछा करते है. तब खेमचंद ने हँसते हुए कहा “अरे, ये तो अपने अशोक कुमार का छोटा भाई किशोर है.” फिर उन्होंने लता और किशोर दा की मुलाक़ात करवाई. फिर लता और किशोर दा ने उस फिल्म में साथ में पहली बार गाना गाया.

मोहम्मद रफी से कैसे हुआ झगड़ा ?

60 के दशक में लता मंगेशकर अपनी फिल्मों में गाना गाने के लिए रॉयल्टी लेना शुरू कर चुकी थी. लता जी का कहना था अगर सभी गायक रॉयल्टी लेना शुरू कर दे तो अच्छा होगा. आखिर रफी साहब से कैसे हुआ झगड़ा?. लता जी, मुकेश ने और तलत महमूद ने एसोसिएशन बनाई और रिकॉर्डिंग कंपनी एचएमवी और प्रोड्यूसर्स से मांग की कि गायकों को गानों के लिए रॉयल्टी मिलनी चाहिए, लेकिन हमारी मांग पर कोई सुनवाई नहीं हुई.

लता मंगेशकर का कहना था फिर उन्होंने एचएमवी के लिए रिकॉर्ड करना ही बंद कर दिया, तब कुछ निर्माताओं और रिकॉर्डिंग कंपनी ने मोहम्मद रफ़ी को समझाया कि ये गायक क्यों झगड़े पर उतारू हैं. गाने के लिए जब पैसा मिलता है तो रॉयल्टी क्यों मांगी जा रही है. लता जी का कहना था “रफी भैया बड़े भोले थे. उन्होंने कहा, मुझे रॉयल्टी नहीं चाहिए.” उनके इस कदम से हम सभी गायकों की मुहिम को धक्का पहुंचा.”

क्या कहना था लता जी का ?

लता जी का कहना था मुकेश भैया ने उनसे कहा “लता मंगेशकर दीदी रफी साहब को बुलाकर आज ही सारा मामला सुलझा लिया जाए. फिर लता जी और सबने रफी जी से मुलाकात की, सबने रफी साहब को समझाया. तो रफी गुस्से में आ गए. लता जी की तरफ देखकर बोले, “मुझे क्या समझा रहे हो. ये जो महारानी बैठी है, इसी से बात करो.” तो लता जी ने भी गुस्से में कह दिया, “आपने मुझे सही समझा मैं महारानी ही हूं.”

तब रफी साहब ने लता जी से कहा “मैं तुम्हारे साथ गाने ही नहीं गाऊंगा”. लता जी ने भी पलट कर कह दिया, “आप ये तक़लीफ मत करिए. मैं ही नहीं गाऊंगी आपके साथ”. फिर लता जी ने कई संगीतकारों को फोन करके कह दिया कि ,लता जी आइंदा रफी साहब के साथ गाने नहीं गायेंगी. इस तरह से रफ़ी साहब और लता जी का  तीन साढ़े तीन साल तक झगड़ा चला.

प्रमुख बिंदु :-

  • आखिर क्यूँ नहीं की लता मंगेशकर जी ने शादी.
  • मोहम्मद रफी साहब से कैसे हुआ झगड़ा?.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here