आधार कार्ड में दर्ज आम लोगों से जुड़ी जानकारी कितनी सुरक्षित है इसे लेकर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान UIDAI के सीईओ अजय भूषण ने सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ के सामने एक पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन भी दिया. उन्होंने अपने 80 मिनट के इस प्रजेंटेशन में कोर्ट को बताया कि आधार में दर्ज डाटा पूरी तरह से सुरक्षित है. भूषण ने कोर्ट को बताया कि आधार का सारा बॉयोमैट्रिक डाटा 2048 bit एनक्रिप्शन से सुरक्षित है. लिहाजा इस डाटा को चुरा पाना किसी के लिए असंभव जैसा है. उन्होंने कहा कि एनक्रिप्शन की को तोड़ने के लिए ब्रह्माण्ड की उम्र लग जाएगी.

भूषण ने आधार कार्ड की लागत को लेकर भी कोर्ट को जानकार दी. उन्होंने बताया कि एक आधार कार्ड का खर्च एक डॉलर से भी कम है. हालांकि बायोमैट्रिक सॉफ्टवेयर हम बाहर से मंगाते हैं लेकिन डेटा कंट्रोल हमारे पास होता है. उन्होंने कोर्ट को बताया कि आधार का सर्वर इंटरनेट से नहीं जुड़ा होता है.

हम आधार कार्ड से जुड़ी कोई भी जानकारी किसी से साझा नहीं करते हैं, सिर्फ केवाईसी के लिए ही निजी जानकारी दी जाती है. यहां तक की अगर किसी आधार कार्ड से कोई लेनदेन होता है तो हम UIDAI लोकेशन या लेनदेन के उद्देश्य को इकट्ठा नहीं करते हैं.

भूषण ने कोर्ट को जानकारी दी कि जुलाई से आधार कार्ड के लिए फेस आईडी लागू करने की योजना पर काम किया जा रहा है. इस मामले में अगली सुनवाई 27 मार्च को होगी.

कब तक बढ़ाई गई है आधार लिंक की सीमा ?

13 मार्च को सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने कहा था कि आधार को जबरदस्ती सरकारी सेवाओं के लिए अनिवार्य नहीं किया जा सकता। आधार की वैधता पर फैसला आने तक इसे लिंक करने की तारीख आगे बढ़ाई जाती है. इससे पहले कोर्ट ने कहा था कि आधार को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर 31 मार्च तक फैसला देना संभव नहीं है. 15 दिसंबर को भी बैंक और मोबाइल नंबर को आधार से जोड़ने की सीमा 31 मार्च तक बढ़ाई थी.

क्‍यों आधार मामले में सुनवाई हुई ?

याचिकाओं में बैंक अकाउंट और मोबाइल नंबर से आधार लिंक करना जरूरी किए जाने के नियम को भी चुनौती दी गई है. पिटीशनर्स का कहना है कि ये गैर-कानूनी और संविधान के खिलाफ है. इनमें कहा गया है कि यह नियम संविधान के आर्टिकल 14, 19 और 21 के तहत दिए गए फंडामेंटल राइट्स को खतरे में डालता है। हाल ही में 9 जजों की की कॉन्स्टीट्यूशन बेंच ने कहा था कि राइट ऑफ प्राइवेसी फंडामेंटल राइट्स के तहत आता है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here