अनोखा कुंड: जहाँ ताली बजाने से निकलता हैं पानी झारखण्ड के बोकारों जिले में एक ऐसा तालाब हैं जहाँ ताली  बजाने से पानी तेजी से बाहर निकलता हैं. जैसे मानो किसी बर्तन में पानी उबल रहा हों. इस तालाब की एक खास बात ये हैं इसमें सर्दी में गर्म पानी और गर्मियों में ठंडा पानी निकलता हैं. लोगों का कहना हैं इस पानी में नहाने से चर्म रोग दूर हो जाता हैं. कहा ये भी जाता हैं कि इस तालाब में जो कोई भी मन्नत मांगता हैं. उसकी मन्नते पूरी हो जाती हैं. क्या आप जानते हैं इसके बारे में?.

इस तालाब से निकलने वाला पानी जमुई नामक नाले से होता हुआ गरगा नदी में जाता हैं

इस तालाब से निकलने वाला पानी जमुई नामक नाले से होता हुआ गरगा नदी में जाता हैं. इस तालाब को दलाही कुंद के नाम से भी जाना जाता हैं. ये जलाशय सीमेंट की दिवार से घिरा हुआ हैं. इस कुंड का जल एकदम साफ हैं और यह पानी औषधियों से भरा हुआ हैं. क्या ये पानी पीने योग्य हैं? है या नहीं?. इसकी पुष्टि होनी चाहये. ये एक ऐसा स्थल है जिसके बारे में बहुत से लोगों को पता नहीं होगा.

सरकार की देख रेख में इस कुंड के बारे में और लोगो को बताना चाहिए.  क्या खासियत हैं इस कुंड की?  इस कुंड के जल से कौन कौन सी बीमारियाँ ठीक हों जाती हैं ? कुंड के पानी पर शोध भी हो चुका हैं. जी हाँ लोगों ने कोशिश भी की है इस कुंड के पानी के रहस्य को जानने की. इस कुंड पर किए गए शोध से पता चला कि ऐसी जगह पर पानी बहुत नीचे होता हैं.

लोग अगर कहते हैं कि इस पानी से नहाने से चर्म रोग दूर होते हैं, तो इसका मतलब यह हुआ की इस पानी में कोई अनोखी औषधि या खनिज तत्त्व की उपस्थिति अवश्य है. शोधकर्ताओं का यह भी कहना है कि ताली बजाने से होनी वाली ध्वनि तरंगों का पानी पर असर पड़ता हैं. लेकिन पानी ऊपर कैसे आ जाता हैं यह पता नहीं चल पाया हैं.

प्रमुख बिंदु इस प्रकार हैं :-

  • ताली बजाने से पानी तेजी से बाहर निकलता हैं.
  • मन्नत भी होती हैं पूरी.
  • चर्म रोग मे लाभदायक होता हैं पानी.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here