Actress के तौर पर Anushka Sharma ने बी टाउन के कई बड़े सितारों जैसे शाहरुख खान, सलमान खान, आमिर खान के साथ काम किया है और जब प्रोड्यूसर बनी तो भी एनएच 10 जैसी फिल्म दर्शकों तक पहुचायी. हालांकि, उसके बाद उनके प्रोडक्शन में बनी फिल्म फिल्लौरी को दर्शकों ने पसन्द नहीं किया. अब एक बार फिर से Anushka अलग ही अंदाज में डराने के लिए तैयार हैं. फिल्म के टीज़र और पोस्टर्स ने तो पहले से ही तहलका मचा रखा था. इस फिल्म से डायरेक्शन के क्षेत्र में प्रोसित रॉय ने कदम रखा है. कैसी बनी है ये फिल्म जानते हैं.

Pari की कहानी :-

Anushka Sharma जब परी बनी तो कैसी लंगी
Anushka Sharma जब परी बनी तो कैसी लंगी

फिल्म की कहानी अर्नब (परमब्राता चटर्जी) और पियाली( रिताम्भरि चक्रवर्ती) के मिलन से शुरू होती है. जब यह दोनों एक-दूसरे को शादी के लिए पहली मुलाकात में मिलते हैं. इस मुलाकात के बाद जब अर्नब अपने माता-पिता के साथ कार से घर की तरफ वापस आता है तो उसी दौरान सड़क हादसे में एक अजीब सी घटना घटती है, जिसकी वजह से इनकी मुलाकात रुखसाना खातून (Anushka Sharma) से होती है.

रुखसाना के पैर में बेड़ियां होती हैं और कुछ ऐसी बातें घटती होती हैं जिसकी वजह से रुखसाना को अर्नब के साथ उसके घर जाना पड़ता है. अर्नब एक अकेले घर में रहता है और उसके माता-पिता किसी और घर में रहा करते हैं, कहानी में अलग मोड़ तब आता है, जब हासिम अली (रजत कपूर) की एंट्री होती है. कई सारे राज के ऊपर से पर्दा उठता है और अंततः इस Pari कथा को अंजाम मिलता है जिसे जानने के लिए आपको नजदीकी सिनेमाघर तक जाना पड़ेगा.

देखना चाहिए या नहीं?

पहली फिल्म के हिसाब से प्रोसित रॉय का काम बढ़िया है. लिखावट, किरदारों के हावभाव और संवाद भी बढ़िया हैं, वहीँ डायरेक्शन, लोकेशन, सिनेमेटोग्राफी कमाल की है. कैमरा वर्क और रीयल लोकेशन आपको सरप्राइज करते हैं. स्क्रिप्ट काफी दिलचस्प है, जो कि संवादों के माध्यम से आपको हिला कर रख देती है. फिल्म की रिलीज से पहले जितने भी टीजर्स सामने आए हैं उनके साथ हर पल में आपको डर का अनुभव जरूर हुआ है, जो कि फिल्मांकन के दौरान और भी डरावना होता है.

Anushka Sharma जब परी बनी तो कैसी लंगी
Anushka Sharma जब परी बनी तो कैसी लंगी

कई सारे ऐसे दृश्य हैं जो आपको अचम्भे का झटका देते हैं.  Anushka की बहुत ही उम्दा एक्टिंग आपको बांधकर रखती है और उनके हावभाव आपको डराने के साथ साथ सोचने पर भी विवश करते हैं.

Anushka ने खास तरह की जुबान पकड़ी है और यह भी कह सकते हैं कि यह उनके करियर की सर्वोत्तम फिल्म है.  फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर कमाल का है और वीएफएक्स जबरदस्त हैं. मानसी मुल्तानी, रजत कपूर, परम्ब्रता चैटर्जी ने भी सहज अभिनय किया है और इन सभी किरदारों की मौजूदगी फिल्म को एक नया रूप देती है. रजत कपूर को आपने इस अवतार में कभी नहीं देखा होगा, वहीं पर परमब्राता ने बहुत ही बढ़िया काम किया है.

फिल्म की एक और अच्छी बात यह है कि तथ्यों के आधार पर इस में एक अच्छी कहानी देखने को मिलती है और 90 के दशक में किस तरह से बांग्लादेश और कोलकाता के बीच कुछ अहम बातों का आदान प्रदान हुआ था यह भी बड़े ही अच्छे तरीके से रिसर्च के साथ मेकर्स ने दर्शाने की कोशिश की है.

फिल्म का कमजोर हिस्सा

Anushka Sharma जब परी बनी तो कैसी लंगी
Anushka Sharma जब परी बनी तो कैसी लंगी

फिल्म का कमजोर हिस्सा वैसे तो कोई नहीं है, बस यह फिल्म एडल्ट फिल्म है और एडल्ट होने के नाते शायद एक खास तबका इस फिल्म को नहीं देख सकेगा. वहीं कुछ ऐसे दृश्य भी हैं जो कमजोर हृदय वालों के लिए नहीं है तो बहुत ही सोच समझकर दिल को मजबूत करके एडल्ट लोगों के साथ यह फिल्म जरूर देखें.

Box Office :

Anushka की फीस निकाल दें तो फिल्म का बजट लगभग 18  करोड़ बताया जा रहा है. Anushka की फिल्लौरी फिल्म ने पहले दिन लगभग 4 करोड़ और एनएच 10 ने पहले दिन लगभग साढ़े तीन करोड़ का बिजनेस किया. फिल्म को 1500 से ज्यादा स्क्रीन्स में रिलीज किया गया.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here