12 ज्योतिर्लिंग के दर्शन - पहले से और आसान हुई तीर्थ यात्रा
12 ज्योतिर्लिंग के दर्शन – पहले से और आसान हुई तीर्थ यात्रा

हमारे देश भारत में ऐसे तो बहुत सारे तीर्थ स्थल है. इन्हीं में कुछ प्रमुख भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग अपने अलौकिक दृश्य के लिए हमेशा से प्रिय माना जाता है. आज हम आपको इन्हीं अदभुत 12 ज्योतिर्लिंग के बारे में बताने जा रहे है. साथ ही साथ हम आपको यहाँ तक ट्रेन से या फ्लाइट से कैसे पहुंचे ये भी बताएंगे. रोड से इनकी दूरी के बारे में आपको ज्ञात कराएँगे.

12 ज्योतिर्लिंग इस प्रकार से है जहाँ भगवान शिव खुद प्रकट हुए :-

  1. सोमनाथ :-

ये शिवलिंग गुजरात के सौराष्ट्र में स्थित है. एक सवाल है यहाँ तक जाए कैसे?. रुक जाइए थोड़ा सब्र रखे हम आपको ये बताने जा रहे है कैसे पहुंचे यहाँ तक.

कैसे पहुंचे :-

सोमनाथ पहुंचे के लिए अगर आप फ्लाइट से जाने की सोच रहे है तो आपको Keshod Airport पर उतरना होगा. अगर आप इंटरनेशनल एअरपोर्ट की बात करें तो राजकोट से उतरकर सोमनाथ शिवलिंग तक आ सकते है. अगर बात करें नजदीकी रेलवे स्टेशन की तो आप गांधीजी के जन्म स्थान पोरबंदर तक आए. यहाँ से आने के बाद के आप ट्रेन से सोमनाथ केवल 5-6 घंटे में सोमनाथ आराम से जा सकते है.

अगर रोड से बात करें तो तो गुजरात की राजधानी अहमदाबाद से सोमनाथ केवल 400 किल्मीटर की दुरी पर है. यहाँ से कई सारी comfortable  Luxurious बस चलती है. जिसे आप आराम से बिना किसे थकावट के सोमनाथ पहुंच सकते है.

2. श्री शैल मल्लिकार्जुन:-

ये ज्योतिर्लिंग मद्रास में कृष्णा नदी के किनारे पर्वत पर स्थापित है.

कैसे जाए यहाँ ?

रेवले की बात करें तो आप पनवेल रेलवे स्टेशन आपके लिए सबसे सुगम और पास का स्टेशन होगा है. अगर आप फ्लाइट से जाने के बारे में सोच रहे है तो आप Chhatrapati Shivaji International Airport जो की इंटरनेशनल में से एक माना जाता है. यहाँ से भी आप जा सकते है. अगर बात करें रोड से जाने की तो हैदराबाद से आपको यहाँ तक आने  में अगर आपका साधन है तो 3 से 4 घंटे ही लगेंगे. हैदराबाद से इसकी 211 किलोमीटर ही है.

3. महाकाल :-

मध्य प्रदेश के उज्जैन में स्थापित है ये शिवलिंग. यहाँ ऐसा कहा जाता है की भगवान शिव ने दैत्यों का नाश किया था.

यहाँ तक पहुंचे कैसे?

यहाँ तक पहुंचने के लिए आपको सुगम तरीके हम बताने के जा रहे है. मध्यप्रदेश के इंदौर शहर से आप यहाँ तक सुगमता से पहुँच सकते है. अगर आप फ्लाइट से आने की सोच रहे है इंदौर एअरपोर्ट जो की इंटरनेशनल एअरपोर्ट है.

इंदौर से उज्जैन की दूरी मात्र 55 किलोमीटर है. बस से उज्जैन इंदौर से 1 से 1:30 में आराम से जाया जा सकता है. अगर आप ट्रेन की बात करें तो मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से उज्जैन डायरेक्ट ट्रेन उपलब्ध है आप आसानी यह जा सकते है. ट्रेन से यहाँ की डिस्टेंस भोपाल से 173 किलोमीटर है. आप ये भी कर सकते है की इंदौर आये फिर यहाँ से उज्जैन बस से या खुद के साधन से जाए.  अगर आप रोड से भोपाल से उज्जैन आने की सोच रहे है तो ये 201 किलोमीटर है.

4. ओंकारेश्वर ममलेश्वर:-

मध्यप्रदेश के धार्मिक स्थलों में से एक है ओंकारेश्वर का ये शिवलिंग. यहाँ ये माना जाता है की पर्वत राज विंध्य की कठोर तपस्या से खुश होकर भगवान शिव यहाँ खुद प्रकट हुए थे. जहां ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग स्थापित हुआ.

कैसे पहुंचे यहाँ तक ?

महाकाल और ओंकारेश्वर आप एक साथ दर्शन कर सकते है. इंदौर आकर आप ओंकारेश्वर के लिए आराम से जा सकते है. इसके लिए अगर आप फ्लाइट से आ रहे है इंदौर इंटरनेशनल एअरपोर्ट आना होगा. फिर यहाँ से आप ओंकारेश्वर के दर्शन के लिए जा सकते है.

इंदौर से ओंकारेश्वर केवल 78 किलोमीटर की दुरी पर स्तिथ है. जिसमे मुश्किल से 2 से 2:30 घंटे लगते है. इंदौर से बसे से जा सकते है. आपको खंडवा रोड से जाना होगा. अपनी खुद की गाड़ी से भी आप ओंकारेश्वर के दर्शन करने जा सकते है. अगर आप ट्रेन से आ रहे तो पास का रेलवे स्टेशन खंडवा रेलवे स्टेशन आपके लिए सुगम होगा. इंदौर रेलवे स्टेशन भी आ सकते है और यहाँ से ओंकारेश्वर के दर्शन करने जा सकते है.

5. नागेश्वर :-

अब बात करते है नागेश्वर ज्योतिर्लिंग के बारे में. ये ज्योतिर्लिंग गुजरात के दारुका वन में स्थापित है.

कैसे पहुंचे नागेश्वर ?

अगर आप ट्रेन से जाना चाहते  है तो आपको नागेश्वर पहुँचने से पहले आपको सबसे पहले द्वारका पहुंचना होगा. द्वारका से आपको ट्रेन से वेरावल स्टेशन पहुंचना होगा. इसकी दुरी मात्र 7 किलोमीटर की है. अगर आप फ्लाइट से जाने की प्लानिंग कर रहे है तो आपको सबसे पहले जामनगर एअरपोर्ट आना होगा फिर जामनगर से द्वारका और बाकी की जर्नी आपको रोड से बितानी होगी. द्वारका से आप किसी भी सिटी में जाएंगे आप आसानी भी होगी और सुगम भी रहेगा.

अगर एक बार आप द्वारका आ गये फिर यहाँ से नागेश्वर बस 25 मिनट का रास्ता है. जो की आप से कर सकते है.  जामनगर से द्वारका 161 किलोमीटर और द्वारका से नागेश्वर बस 16 किलोमीटर. अगर आप रोड से भी आने की सोच रहे से तो तो पहले जामनगर आए. फिर वहाँ से द्वारका और ऑटो या रिक्शा से नागेश्वर.

6. बैद्यनाथ:-

झारखंड के देवघर में है स्तिथ बैद्यनाथ का धाम.

कैसे पहुंचे बैद्यनाथ शिवलिंग ?

अब आपको बताने जा रहे है कैसे पहुंचे यहाँ तक. अगर आप फ्लाइट से जाने की सोच रहे है तो आपको ये चार एअरपोर्ट आपके लिए बैद्यनाथ जाने के लिए पास पड़ेंगे जो इस प्रकार है :- रांची,गया,कोलकाता और पटना. अगर आप रोड से जाने की सोच रहे है तो आप ऐसे जा सकते है :-

पटना से बैद्यनाथ बाबाधाम :-

  1. a. पटना- देवघर-जसीडीह-Chakai-कोडरमा-नवादा-Biharsarif-बख्तियारपुर
  2. रांची से आप बैद्यनाथ धाम भी आसानी से जा सकते है.
  3. झाखंड की राजधानी से बाबाधाम आसानी से जा सकते है.

अगर ट्रेन की बात करें तो जसीडिह रेलवे स्टेशन से बैद्यनाथ आसानी से जा सकते है.

7. भीमशंकर :-

महाराष्ट्र में स्तिथ है ये भीमशंकर. भीमा नदी के किनारे स्तिथ है ये ज्योतिर्लिंग.

अब बात करते है यहाँ तक पहुंचे कैसे ?

अगर आप फ्लाइट से भीमशंकर जाने की सोच रहे है त्यों आपको पुणे एअरपोर्ट पर उतरना होगा. यहाँ से भीमशंकर बस 41 किलोमीटर की दुरी पर स्तिथ है. जिसमे आधे घंटे से 1 घंटे लगेंगे. पुणे का एअरपोर्ट सारे भारत के सिटी से connected  है. अगर आप रोड से जाने की सोच रहे है तो आपको आपको इसके लिए पुणे से भीमशंकर डायरेक्ट NH70 से जाना होगा. आप आसानी से रोड से भी जा सकते है. आप या तो कैब कर सकते है बीके से भी पुणे से भीमशंकर के दर्शन कर सकते है. अगर आप ट्रेन की सोच रहे है तो वैसे तो भीमशंकर का अपना कोई रेलवे स्टेशन नहीं हैं. वैसे आप कज्रत रेलवे स्टेशन पर जा सकते है. वहां से भीमशंकर  की दूरी केवल 41किलोमीटर है.

8. त्र्यंम्बकेश्वर :-

नाशिक से 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थापित है ये शिवलिंग.

कैसे पहुंचे यहाँ तक ?

मुंबई से मात्र 8 किलोमीटर की दुरी पर स्थापित है ये  ज्योतिर्लिंग. टैक्सी से आप आराम से जा सकते है यहाँ दर्शन करने के लिए. अगर फ्लाइट की बात करें तो मुंबई तक आप फ्लाइट से आ सकते है और फिर यहाँ से टैक्सी पकड़े और सीधे ज्योतिर्लिंग के हो जाएंगे आपको दर्शन. अगर आप ट्रेन से जाने की सोच रहे है तो वैसे त्र्यंम्बकेश्वर का कोई अपना रेलवे स्टेशन नहीँ है. आप नासिक रोड रेलवे स्टेशन से त्र्यंम्बकेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन कर सकते है.

9. घुष्मेश्वर:-

महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में स्थापित है घुष्मेश्वर ज्योतिर्लिंग. ये औरंगाबाद जिले के एलोरा गुफा के समीप वैशल गॉव में स्तिथ है घुष्मेश्वर.

कैसे पहुंचे यहाँ तक?

अगर पास के एयरपोर्ट की बात करें तो औरंगाबाद से आप आसानी से जा सकते है जो की घुष्मेश्वर से केवल 29 किलोमीटर की दुरी पर है. अगर रेलवे स्टेशन की बात करें तो औरंगाबाद रेलवे स्टेशन घुष्मेश्वर से समीप स्तिथ है. अगर रोड की बात करें तो हैदराबाद से औरंगाबाद की दूरी 615 किलोमीटर है.

10. केदारनाथ:-

हिमालय की गोद में है केदारनाथ. उतराखंड राज्य में है स्थित केदारनाथ.

कैसे पहुंचे यहाँ तक ?

आप आप फ्लाइट से जाना चाहते है तो जॉली ग्रांट एअरपोर्ट केधार्नाथ के सबसे समीप स्तिथ है. एअरपोर्ट से केदारनाथ की दूरी 238 किलोमीटर है. अगर आप ट्रेन से जाना चाहते है तो ऋषिकेश आपके लिए सबसे समीप पड़ेगा. अगर आप रोड से जाने की सोच रहे है तो गौरीकुण्ड से आप आसानी से केदारनाथ जा सकते है. गौरीकुण्ड NH-109 पर स्तिथ है.

11. विश्वनाथ:-

ये काशी यानि की वाराणसी में स्थापित है ज्योतिर्लिंग. काशी प्राचीन नगरों में एक रही है.

कैसे पहुंचे यहाँ तक ?

अगर आप फ्लाइट से यहाँ जाने की सोच रहे है तो आपको लाल बहादुर शास्त्री एअरपोर्ट जो की बाबतपुर में स्तिथ है वहाँ उतरना होगा. यहाँ से विश्वनाथ मंदिर 25 किलोमीटर की दूरी पर है. जो एक एक घंटे या उससे भी कम लगता है.

अगर आप ट्रेन से जाने की सोच रहे है तो आपको वाराणसी रेलवे स्टेशन आना होगा, जो की सारे सिटी से कनेक्टेड है. वाराणसी स्टेशन से केवल ये मंदिर केवल 2 किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ है. अगर आप रोड से जाना चाहते है तो रोड की भी सुविधा बहुत अच्छी है. आप आसानी से दर्शन कर सकते है.

12. रामेश्वरम्‌:-

त्रिचनापल्ली(मद्रास) में समुंद्र तट पर स्थित है ये ज्योतिर्लिंग. ऐसा कहा जाता है की ये भगवान राम द्वारा स्थापित है ये रामेश्वरम्‌ ज्योतिर्लिंग.

जाने कैसे पहुंचे यहाँ तक ?

वैसे तो रामेश्वरम्‌ का कोई अपना एअरपोर्ट नहीं है. आप  ऐसा कर सकते है मदुरई एअरपोर्ट जा सकते है फिर वहां से रामेश्वरम्‌ 170 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. अगर आप रामेश्वरम्‌ रोड से जाना चाहते है तो रामेश्वरम्‌ की सारे शेहरों से कनेक्टिविटी  अच्छी है और इस शिवलिंग के दर्शन आराम से कर सकते है.

अगर आप रामेश्वरम्‌ ट्रेन से जाना चाहते है तो रामेश्वरम्‌ सारे ट्रेन कनेक्टिविटी से जुदा है चाहे वो चेन्नई,Coimbatore,Madurai से रेलवे लिंक कनेक्टेड है. आप ये भी कर सकते है चीनी आकर यहाँ से रामेश्वरम्‌ के लिए डायरेक्ट ट्रेन पकड़कर दर्शन करने जा सकते है.

प्रमुख बिंदु :-

  • 12 ज्योतिर्लिंग कौन-कौन से है?.
  • कैसे पहुंचे यहाँ तक?.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here