नये BCCI contracts में Virat Kohli, Rohit Sharma जैसे खिलाडियो को मिलेंगें 7 करोड़ रुपए
Virat Kohli, को मिलेंगें 7 करोड़ रुपए

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की ओर से जारी की गई. 26 सदस्यीय वार्षिक अनुबंध की सूची में शामिल सात करोड़ रुपये के नए वर्ग A+ को शामिल करने की सोच किसी और की नहीं, बल्कि भारत के दो दिग्गज खिलाड़ियों Mahendra Singh Dhoni और Virat Kohli की थी. इन दोनों खिलाड़ियों का मानना था कि टीम में खिलाड़ियों के अच्छे प्रदर्शन को मान्यता दी जाए और उसके अनुसार, उन्हें पुरस्कृत किया जाए. लेकिन अब बीसीसीआई इन इस ए+ कैटेगिरी के सितारों को सात करोड़ रुपये देने के साथ ही साफ-साफ संदेश भी दे दिया है. आपको फिर से बता दे कि नए वर्ग A+ में  शामिल पांच खिलाड़ियों- Virat Kohli , Rohit Sharma, Sikhar Dhawan, Bhuvneswar Kumar और Jaspreet Bumraah को सालाना तौर पर सात करोड़ रुपये की राशि दी जाएगी.

Dhoni को  BCCI ने ग्रेड ए की श्रेणी में रखा

नये BCCI contracts में Virat Kohli, Rohit Sharma जैसे खिलाडियो को मिलेंगें 7 करोड़ रुपए
नये BCCI contracts में खिलाडियो को मिलेंगें 7 करोड़ रुपए

Dhoni केवल वनडे और T-20 प्रारूप में खेल रहे हैं और इस कारण उन्हें A कैटेगिरी में रखा गया है, जिसके तहत उन्हें पांच करोड़ रुपये सालाना मिलेंगे. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच अनिल कुंबले ने इस चर्चा की पहल की थी. उन्होंने इस बारे में पहले वरिष्ठ खिलाड़ियों और इसके बाद कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स (सीओए) से बात की. इस मामले पर सीओए के चेयरमैन विनोद राय और डायना एडुलजी ने बीसीसीआई के कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी के साथ चर्चा की और इसके बाद खिलाड़ियों की राय जानी.

नये BCCI contracts में Virat Kohli, Rohit Sharma जैसे खिलाडियो को मिलेंगें 7 करोड़ रुपए
खिलाडियो को मिलेंगें 7 करोड़ रुपए

राय ने कहा, ‘सबसे पहले Kohli और Dhoni ने यह सुझाव दिया था. खिलाड़ी इस वर्ग को सबसे अलग तरह से चाहते थे. और इसमें उन्हीं खिलाड़ियों को शामिल करना चाहते थे, जिन्होंने शानदार प्रदर्शन किया हो. उनका कहना था कि इस वर्ग में उन्हीं खिलाड़ियों को रखा जाए, जो तीनों प्रारूपों में खेलते हुए ICC रैंकिंग में शीर्ष-10 खिलाड़ियों की सूची में शामिल हों. यह एक ऐसा वर्ग था, जहां बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी को उसके प्रदर्शन के अनुसार, पुरस्कृत किया जाए’.

सीओए चेयरमैन राय ने साफ करते हुए कहा कि A+ वर्ग की खास बात यह है कि इसमें शामिल खिलाड़ी स्थायी नहीं रहेंगे, बल्कि इसमें वहीं खिलाड़ी शामिल होंगे, जो तीनों प्रारूपों में शानदार प्रदर्शन करेंगे, अगर नहीं तो वे फिसलकर निचली कैटेगिरी में आ जाएंगे.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here