23 मार्च 1931 लाहौर सेंट्रल जेल के दिन की शुरुआत एक आम दिन की तरह ही हुई पर शायद ही आपको याद हो इस दिन क्या हुआ था. शरुआत तो एक सामान थी पर एका-एक सब बदल गया. अब यहाँ जोर-जोर से आंधियां चलने लगीं. अब जेल के कैदीयों को अजीब लगने लगा. जेल का जो नाई बरकत था वह हर कमरे के सामने से कुछ बोलते हुए जा रहा था कि आज रात भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी दी जाने वाली है. हाँ दोस्तों यही वो दिन था जब भगत सिंह को लाहौर जेल में फांसी हुई थी.

भगत सिंह से जुड़े ऐतिहासिक तथ्य - पाकिस्तान ने किए सार्वजानिक
भगत सिंह से जुड़े ऐतिहासिक तथ्य – पाकिस्तान ने किए सार्वजानिक

भगत सिंह की फांसी से जुड़े राज आज तक भी राज ही रहे  पर अब 87 साल बाद पाकिस्तान में उन पर चल रहे मुकद्दमे की और फांसी से जुडी सारी फाइल्स सार्वजानिक की हैं. उनकी शहादत के बाद अब जाकर उनसे जुड़े दस्तावेज सबके सामने आयें हैं. इसमें भगत सिंह के केस से जुड़ी खबरों की क्लिपिंग, सांडर्स द्वारा दी गयी पोस्टमार्टम रिपोर्ट और सुखदेव राजगुरु की फांसी देने का वारंट शामिल है. अब जाके उनके लिखे हुए ख़त भी मिले हैं जिसमें सिर्फ 1 अलग बात मिली है की वे अपने ख़त को समाप्त आपका आज्ञाकरी या आपका आभारी लिखने की वजाय आपका आदि लिखा करते थे.

50 दस्तावेज रखे गए हैं प्रदर्शनी में

इनकी पाकिस्तान में एक प्रदर्शनी लगायी गयी है. इसमें जो दस्तावेज रखे गयें हैं उनमे भगत सिंह के केस से जुडी सारी तस्वीरें उनकी ख़बरों से जुडी हुई क्लिपिंग, पोस्टमार्टम रिपोर्ट, और ब्रिटिश पुलिस के द्वारा भगत सिंह के ठिकानों पे छापा मारने के दौरान मिली बन्दूक और गोलियों की तस्वीर शामिल है. यह सब सामान की तस्वीर प्रदर्शनी में लगायी गयी है. इन सारे दस्तावेज को देखने के लिए लोगों का काफी दिलचस्प दिख रहा है. शायद सिर्फ यही वजह है कि पाकिस्तान में  पंजाब सरकार के  अभिलेखागार विभाग के डायरेक्टर अब्बास चौधरी ने प्रदरशनी की तारीख को और बढ़ा दिया है.

उनका डेथ सर्टिफिकेट

जेल निरीक्षक द्वारा बनाये गये उनके डेथ सर्टिफिकेट को भी प्रदर्शनी में रखा गया है. जिसमें साफ़ साफ़ बताया गया है की उनको 23 मार्च 1931 को फांसी दी गयी थी.

भगत सिंह के द्वारा लिखे पत्रों की खासियत क्या है ?

उनके द्वारा लिखे पत्रों में सिर्फ 1 अलग बात मिली है की वे अपने ख़त को समाप्त आपका आज्ञाकरी या आपका आभारी लिखने की वजाय आपका आदि लिखा करते थे.

पाकिस्तान की पंजाब सरकार ने भगत सिंह से जुड़े मुकद्दमे के दस्तावेजों के रिकार्ड प्रदर्शित किये हैं. इनको देखने दूर दूर से लोग पहुँच रहे है. पंजाब के अभिलेख विभाग ने कहा है कि अभी भगत सिंह के केस से जुड़ी कुछ फाइलों को ही सार्वजनिक किया जा रहा है. बकिं बचे दस्तावेज मंगलवार को सार्वजनिक कर दिए जाएंगे.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here