भारत के बाहर कितने देशों में है विशाल हनुमान प्रतिमाएं?
भारत के बाहर कितने देशों में है विशाल हनुमान प्रतिमाएं?

बीते दिनों हनुमान जयंती मनाई गई. सभी जगहों पर इस मौके पर रौनक ही रौनक देखने को मिली. भगवन विष्णु के अवतार रहे हनुमान के भक्त देशों में ही नहीं अपितु विदेशों में भी फैले हुए है. ऐसे में आज हम बात करने जा रहे है भगवान हनुमान के ऐसे ही भव्य मंदिर के बारे में. हनुमान तो संकटमोचक है. ये कलयुग ही क्यूँ ना हो. भक्त उनके अभी भी उनका उतने ही प्यार और सम्मान के साथ उनकी पुजा करते है. आइए जानते है ऐसे ही कुछ विशाल भव्य मंदिरों के बारे में जो विदेशों में है.

  1. हनुमान मंदिर त्रिनीदाद :- त्रिनिदाद को दुनियाँभर में सबसे खास और शानदार बीच और पार्टी लोकेशन के लिए जाना जाता है. भारत के बाद इस देश में सबसे बड़ी हनुमान की मुर्ति कही और नहीं यही है. यहाँ Hanuman की मुर्ति 85 फीट ऊँची है. इस मुर्ति को ऑरेंज और पिंक के रंग से रंग गया है. अब कभी भी त्रिनिदाद जाए तो एंजोयमेंट के साथ-साथ Hanuman भगवान के दर्शन करना ना भूले.
  2. कार्य सिद्ध Hanuman मंदिर फ्रिस्को टेक्सास:-

    ये मंदिर स्तिथ है टेक्सास के फ्रिस्को में. यहाँ के सिद्ध मंदिरों में से एक है. अगर इसकी लगत की बात करें तो इसके कंस्ट्रक्शन में 48 करोड़ रूपये खर्च हुए थे. लेकिन अब तो आस-पास इसके काफी मंदिर बन गये है . हो सकता है इसके बारे में पहले ना जानते हो. अगर अब आप जान गये है तो इस कार्य सिद्ध मंदिर के दर्शन करने जरुर जाए.

  3. श्री वीरा Hanuman मंदिर कुआलालंपुर:- मलेशिया के ब्रिकफील्ड में मौजूद है ये हनुमान मंदिर. ये मंदिर मलेशियन अर्चिलोगिस्ट के तर्ज पर पर बना है ये मंदिर. एक मंदिर मार्बल की बनी है जिसमे भगवान संत मुद्रा यानि योगी की मुद्रा में बैठे है और दूसरा हरे colour में रंगी है जिसमे भगवान हरे रंग मे और अपने भक्तो को आशीर्वाद देते नजर आए है. इस तरह मंदिर के अंदर भगवान की दो अलग-अलग मूर्तियाँ है.
  4. संकट मोचन Hanuman मंदिर अमेरिका :-

    अमेरिका में पहाड़ियों पर बना हुआ है ये हनुमान मंदिर. ये स्थान पुजा पाठ के साथ-साथ सुकून से भगवान की शरण में जाकर एक अलग अनुभुति की प्राप्ति होती है. यहाँ साथ ही साथ योगा और मैडिटेशन की क्लासेज भी दी जाती है. ये संकट मोचक Hanuman मंदिर माउंट मडोना सेंटर पर मौजूद है.

  5. पंचमुखी Hanuman मंदिर पाकिस्तान :- ये मंदिर 1500 साल पुरानी है. ये मंदिर कराँची में स्थित है. इस मंदिर में मौजूद हनुमान की मुर्ति हजारों साल पुरानी है. इस मुर्ति में Hanuman भगवान के अलग-अलग अवतार दिखाए गये है. ये अवतार इस प्रकार है – नरसिम्हा,आदिवारगा,हयग्रीव,हनुमान,गरुड़ अवतार नजर आते है.

ऐसा कहा या माना जाता है की ये मुर्ति किसी इंसान ने नहीं बनाई अपितु प्राकृतिक द्वारा बनी बनाई है. ऐसा मुमकिन तो हो सकता है. ऐसा भी माना जाता है की यहाँ भगवान राम आ चुके है. वैसे भी Hanuman को भगवान राम का परम भक्त माना गया है.

प्रमुख बिंदु :-

  • विदेशों में हनुमान मंदिर कहाँ-कहाँ है.
  • हनुमान विदेशों में भी है प्रिय.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here