भारत की इस नदी से निकलता है सोना : दुनियाँ की नजर इसपर

0
157
भारत की इस नदी से निकलता है सोना : दुनियाँ की नजर इसपर
bharat ki is nadi se nikalta hai sona

भारत को सोने की चिड़ियाँ कहा जाता था. अगर बात करें सोने की चिड़ियाँ रही भारत की या दुनियाँ की सोने की कीमत आसमान तक पहुंच गई है. अंग्रेज सारा सोना लूटकर तो चले गए लेकिन भारत में अभी भी ऐसी नदी है जहाँ से सोना निकलता हैं.

कहाँ मिलता है सोना :-

भारत में ऐसी एक जगह है जहाँ सोना कोड़ियों के भाव में ख़रीदा जाता है. इस बात पर यकीन करना भले ही थोड़ा मुश्किल हो सकता है ,लेकिन सच यही है. यहाँ से निकलने वाला सोना किसी खदान से नही अपितु नदी से बहकर आता हैं. इस सोने को निकालकर कई करोड़पति भी बन गए. कुछ जगहों पर इसे स्वर्णरेखा के नाम से और कही इसकी सहायक नदी को करकरी के नाम से जाना जाता है. इनदोनों नदियों में सोने के कण पाए जाते है.

ये नदी पश्चिम बंगाल,झारखंड,ओद्दिसा के कुछ इलाको से होकर बहती हैं. भूवैज्ञानिकों का कहना है की ये नदी कई चट्टानों से होकर गुजरती है. चट्टानों से होकर गुजरने से इसमे घर्षण होता है. घर्षण होने से सोने के कण इसमे समाहित हो जाते है. रिपोर्ट की माने तो झारखंड के तमाड़ और सारणा के आदिवासी नदी के पानी में रेत को छानकर सोने के कण इक्कठा करने का काम किया करते हैं.

भारत की इस नदी से निकलता है सोना : दुनियाँ की नजर इसपर
bharat ki is nadi se nikalta hai sona

इस काम में आदिवासियों की कई पीढ़ियाँ काम में लगी हुई है. इस परिवार के महिला पुरुष यही काम करते हैं. आमतौर पर आम इंसान सोने का एक कण निकाल पता है,यानि महीने के 60 से 80 कण निकाल पाते हैं. ये कण चावल के दाने या उससे थोड़े बड़े होते हैं. इस सोने के कण को छानने का काम सालभर चलता रहता है. बाढ़ आने के दौरान ये काम दो महीने तक बंद रहता है. शिक्षा की कमी होने के बावजूद ये लोग सोने को मिट्टी के भाव में बेच देते हैं.

सेठ कितने में खरीदते है सोना :-

ऐसा कहा जाता है सेठ सोने के टुकड़ो को 60 से 70 रुपए में खरीदते है और बाजारों में 500 से 600 रूपये में बेच देते है और इससे वो मालामाल हो जाते हैं. ऐसे करने से जल्द ही सेठ करोड़पति बन गए. इस क्षेत्र के आस-पास पाए जानेवाली लाल मोरंग मिट्टी में सोने के कण पाए जाते हैं. यहाँ तक की चट्टानों को खोदकर मोरंग मिट्टी को आदिवासी अपने घर ले जाते हैं. इस मिट्टी को बड़े बर्तन मे घोलकर और फिर छानने वाले कपड़े से अच्छे से छानकर और फिर विशेष प्रकिया द्वारा सोने के कण को बाहर निकाला जाता है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here