India एक ऐसा देश है जो परंपराओं और समाज में फैले अंधविश्वास से जकड़ा हुआ है. खासकर देश कि महिलाओं को इन सब रीति-रिवाजों में कुछ ज्यादा ही बांध कर रखा गया है. शायद इसलिए आज देश में महिलाओं के प्रति लोगों के दिलो दिमाग में एक ऐसी मानसिकता उभर कर आती है जो उन्हें कहीं न कहीं उनके प्रति ये सोचने पर मजबूर कर देती है कि ये तो महिला है ये क्या कर सकती है.

इन्हीं सब से लड़ते हुए एक भारतीय महिला ने जो कर दिखाया वो लोगों के लिए एक मिसाल बन गया है. बता दें कि Social Sites की दुनिया में अपना वर्चस्व कायम करने वाली कंपनी Facebook के जरिए एक नया कीर्तिमान स्थापित करने वालीं Kirtiga Reddy ने वो दौर देखा है जब उन्हें पढ़ाई के लिए दर-दर की ठोकरें खाईं. एक मध्यम वर्गीय परिवार से नाता रखने वाली Kirtiga, India में Facebook की पहली कर्मचारी के रुप में काम करने वाली महिला हैं.

वे जुलाई, 2010 में Facebook से जुड़ी थीं. जुलाई, 2016 तक वे Facebook इंडिया की हेड रहीं. Kirtiga  ने जब पहले दिन ऑफिस गई तो उन्हें खुद ही ऑफिस का शटर खोलना पड़ा था. लेकिन धीरे-धीरे उनकी मेहनत, इमानदारी और जबरदस्त स्ट्रेटजी ने Facebook को भारतीयों के बीच लोकप्रिय होने में ज्यादा देर नहीं लगा. Kirtiga ने बाबा साहेब आंबेडकर यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनयरिंग में बैचलर्स डिग्री ली. वे यूनिवर्सिटी में दूसरे नंबर पर रही थीं.

इसके बाद उन्होंने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में MBA किया. Kirtiga  ने अमेरिकी यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर इंजीनियरिंग में MS भी किया है. Kirtiga  ने 1995 में America की जानी-मानी सिलिकॉन ग्राफिक्स कंपनी से करियर शुरू किया. वहां वे इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट की डायरेक्टर थीं. उनके नाम कंपनी में इस पद पर काम करने वाली सबसे युवा शख्स होने का रिकॉर्ड है. इसके अलावा वे इस पोस्ट पर एकमात्र महिला थीं.

कंपनी के अन्य डायरेक्टर पुरुष थे. America में Kirtiga ने मोटोरोला कंपनी में भी काम किया. फिर 2008 में वे 14 साल America में रहने के बाद India आ गईं. यहां उन्होंने यूएस बेस्ड फीनिक्स टेक्नोलॉजीज के साथ काम शुरू किया. इसी दौरान उन्हें Facebook से ऑफर आया. यह एक सुनहरा मौका था, इसलिए उन्होंने बिना बहुत अधिक सोच-विचार किए, हां कर दी.

Facebook की पहली कर्मचारी

इस तरह वे इंडिया में Facebook की पहली कर्मचारी बनीं. Kirtiga  के पति देव America में काम करते हैं. इस दंपती की दो बेटियां हैं. बड़ी बेटी आश्ना 14 साल की है और छोटी आरिया 11 साल की. जब आरिया का जन्म हुआ था, तो छह सप्ताह की मैटरनिटी लीव के बाद Kirtiga  काम पर लौट आई थीं. जब कामकाज के सिलसिले में उन्हें सफर करना होता, तो वे आरिया को अपने साथ ही ले जातीं.

मीटिंग्स के बीच-बीच में वे बेटी की देखभाल भी करतीं है. Kirtiga कहती हैं कि करियर वुमन के नाते वे और की जगह एंड में यकीन रखती हैं. अक्सर कामकाजी महिला को घर-परिवार और करियर के बीच संतुलन साधने के लिए काफी जूझना पड़ता है. बहुत-सी महिलाओं को आखिरकार फैमिली और करियर में से किसी एक को चुनना पड़ता है. लेकिन Kirtiga  फैमिली ‘या’ करियर की जगह फैमिली ‘और’ करियर में विश्वास रखती हैं.

इसके लिए वे अपने पति देव की भी शुक्रगुजार हैं, जिन्होंने पैरेंटिंग में उनका पूरा साथ दिया. वे देव को 50-50 पैरेंट कहती हैं. यानी Kirtiga ने बच्चियों की जितनी देखभाल की, देव ने भी उतना ही हाथ बंटाया. छह साल तक Facebook की कंट्री हेड रहने के बाद Kirtiga  ने फरवरी 2016 में America वापस जाने का निर्णय लिया.

इसके ठीक पहले Facebook ने बड़े जोर-शोर से इंटरनेट न्यूट्रीलिटी को लेकर अभियान चलाया था, लेकिन टेलीकॉम रेगुलेरिटी, ट्राई की ओर से उन्हें इसके लिए परमिशन नहीं मिली. इसके तुरंत बाद ही Kirtiga  ने America वापस जाने का एलान कर दिया था. उनकी वापसी को अभियान की विफलता से जोड़कर देख जा रहा था. America में वे Facebook हेडक्वार्टर में ग्लोबल क्लाइंट पार्टनर एंड इमर्जिंग मार्केट्स लीड हैं.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here