भारतीय Airline companies द्वारा 1,000 से अधिक विमानों के ऑर्डर दिए गयें
भारतीय Airline companies

भारत की सबसे बड़ी Airline, INDIGO, 50 एयरबस एसई ए 330 वाइड-बॉडी जेट विमानों की व्यवस्था करने की योजना बना रही है क्योंकि अब छोटी उड़ानों से आगे बढ़ने का प्रयास हो रहा है, इस मामले के जानकार लोग कहते हैं.

 

 भारतीय Airline companies द्वारा 1,000 से अधिक विमानों के ऑर्डर दिए गयें
भारतीय Airline companies द्वारा 1,000 से अधिक विमानों के ऑर्डर दिए गयें

भारतीय Airline companies द्वारा 1,000 से अधिक विमानों के ऑर्डर दिए गयें हैं. इसके साथ ही अमरीका और चीन के बाद भारत तीसरा सबसे बड़ा विमानो का खरीदार देश बन गया है.

भारत में अभी फिलहाल करीब 550 वाणिज्यिक विमान उड़ान भर रहे हैं. इस प्रकार विमानन companies ने फिलहाल सेवा में हर ऐक विमान के लिए औसतन 2.2 विमानों का ऑर्डर दिया है. विमान सलाहकार फर्म सी.ए.पी.ए. के अनुसार यह किसी भी प्रमुख विमान बाजार के लिए सर्वाधिक आंकड़ा है.

विमानों की खरीदारी में सबसे अधिक दिलचस्पी INDIGO, स्पाइसजैट, गोएयर और एयर एशिया इंडिया जैसी सस्ती विमान सेवाओं ने दिखाई है. इन सब विमान companies ने घरेलू बाजार में अपना वर्चस्व कायम करने के लिए 5 घंटे तक उड़ान भरने वाले नैरो बॉडी एयरक्राफ्ट पर दांव लगाया है.

सबसे अधिक विमानों के लिए ऑर्डर

सबसे अधिक विमानों के लिए ऑर्डर
सबसे अधिक विमानों के लिए ऑर्डर

INDIGO ने विश्व में सबसे अधिक विमानों के लिए ऑर्डर दिए हैं और अगले 7 वर्षों में वह अपने बेड़े में करीब 450 विमानों को शामिल करना चाहती है. INDIGO के ऑर्डर में 50 एटीआर-72 विमान भी शामिल हैं जिन्हें पिछले साल क्षेत्रीय मार्गों पर लगाया गया है.

हालांकि प्रैट एंड व्हिटनी इंजन की तकनीकी खामियों के कारण बेड़े में नए विमानों को शामिल करने की रफ्तार सुस्त पड़ सकती है क्योंकि INDIGO के ए320 नियो विमानों में इसी इंजन का इस्तेमाल किया गया है लेकिन कम्पनी सूत्रों ने कहा कि विमानन कम्पनी पट्ट बाजार के बल पर अपने बेड़े में सालाना 20 प्रतिशत वृद्धि के लक्ष्य को बरकरार रखेगी.

INDIGO के एक अधिकारी ने कहा कि इंजन में समस्या से INDIGO की वृद्धि योजना प्रभावित नहीं होगी. अगले एक साल में हम अपने बेड़े में 40 नए विमान शामिल करेंगे जो हमारे किसी भी प्रतिस्पर्धी के मुकाबले अधिक है.

 INDIGO
INDIGO

इंटरग्लोब एविएशन लिमिटेड के एक ब्रांड INDIGO ने गैर-लाभकारी राष्ट्रीय वाहक एयर इंडिया लिमिटेड में दिलचस्पी दिखाई है, हालांकि बजट विशेषज्ञ ने कहा है कि वह अधिग्रहण के बिना या बिना कम लागत वाले लंबी दूरी की उड़ानों को शुरू करना चाहता है. वाहक के पास अब तक लगभग 400 और A320neos आने के लिए हैं.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here