नार्थ ईस्‍ट के दो अहम राज्‍य त्रिपुरा और नगालैंड में भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दलों ने जीत दर्ज की है। त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दल को पूर्ण बहुमत मिल चुका है। वहीं नगालैंड में भारतीय जनता पार्टी अपने सहयोगी दल के साथ मिल कर सरकार बनाने की रेस में है। इस जीत के साथ ही देश के 20 राज्‍यों में बीजेपी या बीजेपी की गठबंधन वाली सरकार का कब्‍जा हो गया। इस जीत के राजनीतिक मायने तो हैं ही, साथ ही इकोनॉमी के लिहाज से भी त्रिपुरा और नगालैंड में बीजेपी की जीत काफी मायने रखती है। इन दो राज्‍यों में जीत के साथ ही देश की लगभग 59 फीसदी जीडीपी बीजेपी या उसके गठबंधन वाली सरकार के कब्‍जे में आ चुकी है।

कितनी है देश की GDP?

वर्तमान में भारत की GDP 156.59 लाख करोड़ रुपए है। जिन 20  राज्‍यों में बीजेपी की सरकार काबिज हो गई है, उनका देश की कुल GDP में लगभग 59  फीसदी का योगदान है। इनमें सबसे ज्‍यादा योगदान महाराष्‍ट्र का है।

राज्‍य                   GDP में हिस्‍सेदारी
महाराष्‍ट्र 14.29%
उत्तर प्रदेश 7.43%
गुजरात 7.4%
आंध्र प्रदेश 4.46%
राजस्‍थान 4.78%
मध्‍य प्रदेश 3.82%
हरि‍याणा 3.71%
छत्‍तीसगढ़ 1.85%
झारखंड 1.65%
असम 1.52%
उत्तराखंड 1.17%
जम्मू-कश्मीर 0.84%
गोवा 0.44%
मणिपुर 0.11%
हिमाचल प्रदेश 0.79%
बिहार 4.03%
त्रिपुरा 0.17 %
अरुणाचल प्रदेश 0.12%
नगालैंड 0.11%
सिक्किम 0.10%
कुल  59 %

 

स्रोत-मिनिस्ट्री ऑफ स्टैटिस्टिक्स एंड प्रोग्राम इंप्लीमेंटेशन

नार्थ ईस्‍ट के राज्‍यों में तेज होगी विकास की गति

त्रिपुरा और नगालैंड में भाजपा के जीत के बाद नार्थ ईस्‍ट के ज्‍यादातर राज्‍यों में भाजपा की सरकार होगी। माना जा रहा है कि केंद्र में भाजपा की सरकार होने का फायदा इन राज्‍यों को मिलेगा और यहां पर विकास की गति तेज होगी। भाजपा को भी कई दशकों तक संघर्ष के बाद देश के नार्थ्‍ ईस्‍ट के राज्‍यों में सरकार बनाने में कामयाबी मिली है। ऐसे में भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार विकास और रोजगार के काम को आगे बढ़ा कर इन राज्‍यों में अपनी पकड़ को मजबूत बनाना चाहेगी जिससे उसे आने वाले समय में देश के इन इलाकों में उसी तरह की कामयाबी मिलती रहे जैसी उसे उत्‍तर भारत के राज्‍यों में मिलती रही है।

नार्थ ईस्‍ट के राज्‍यों में है लोकसभा की 25 सीटें

2014 में केंद्र में सत्‍ता में आने के बाद मोदी सरकार ने नार्थ ईस्‍ट के विकास को बढ़ावा देने के लिए अलग मंत्रालय बनाया था। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पिछले चार सालों में नार्थ ईस्‍ट के लगातार दौरे वहां के विकास को अपनी सरकार के एजेंडे में काफी ऊपर रखा। 2019 के लोकसभा चुनाव के नजरिए से भी नार्थ ईस्‍ट के राज्‍य अहम हैं। इन राज्‍यों में लोकसभा की 25 फीसदी सीटें हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here