चुनाव के हार के साथ अब गूगल से भी कांग्रेस का नामोनिशान खत्म कांग्रेस ने गूगल के प्‍ले स्‍टोर से अपने ऑफि‍शि‍यल मोबाइल फोन एप्‍लीकेशन को डि‍लि‍ट कर दि‍या है. सिंगापुर में सर्वस के जरि‍ए ऐप के डाटा की जानकारी चोरी होने की रि‍पोर्ट आने के बाद कांग्रेस ने ऐप को हटा दि‍या है. इससे पहले कांग्रेस प्रेसि‍डेंट राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऑफि‍शि‍यल ऐप पर आरोप लगाया था कि‍ वह बि‍ना यूजर्स की जानकारी के डाटा शेयर कर रहे हैं. इसके बाद, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के आईटी सेल हेड अमि‍त मालवीय ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए आरोप लगाया कि‍ उनकी पार्टी के ऑफि‍शि‍यल ऐप का डाटा सिंगापुर की कंपनी को पहुंचाया जा रहा है.

बीजेपी ने क्या कहा :-

मालवीय ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिये साईट से डि‍स्‍क्‍लेमरा की तस्वीर शेयर की और कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा की वे थर्ड पार्टी के साथ डाटा शेयर करने की मंजूरी मांग रहे है. मालवीय ने ट्वीट में  ‘हाय मेरा नाम राहुल गाँधी है. मैं भारत के सबसे पुराने पार्टी का प्रेसिडेंट हूँ. जब आप हमारे ऑफिसियल एप्प पर signup करते है तो मैं आपका डाटा सिंगापूर में अपने दोस्तों को दूंगा.

कांग्रेस ने क्या लगाया था आरोप ?

इससे पहले राहुंल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया था कि‍ NaMo ऐप के जरि‍ए यूजर्स की डि‍टेल अमेरि‍की कंपनि‍यों को पहुंचाई जा रही हैं. राहुल गांधी ने ट्वीट कर लि‍खा, ‘हाय! मेरा नाम नरेंद्र मोदी है. मैं भारत का प्रधानमंत्री हूं. जब आप मेरे ऑफि‍शि‍यल ऐप के लि‍ए साइन अप करते हैं, तो मैं आपका डाटा अमेरि‍कन कंपनि‍यों में अपने दोस्‍तों को दूंगा.’

क्या कांग्रेस राजनीति करना भूल गई है?. अगर ये सच है तो कांग्रेस के अस्तित्व पर खतरा मंडराता जा रहा है. 2019 के चुनाव में क्या कांग्रेस अपना अस्तित्व को बचा पाएगी?. कौन सहायक होगा क्या राहुल गाँधी इतने सक्षम है की वों ऐसा कर पाएंगे ?. सवाल तो इतने सारे है की शायद इनका जवाब कांग्रेस अभी ना दे पाए. राहुल गाँधी ये कब समझ पाएंगे की उनकी पार्टी किस स्तिथि में है और यहाँ से अगर सिमट गई तो कांग्रेस का अता पता भी नहीं होगा.

प्रमुख बिंदु :-

  • कांग्रेस का एप्प गूगल प्ले स्टोर से हटा.
  • बीजेपी ने इसपर क्या ली चुस्की?.
  • कांग्रेस का क्या था कहना?.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here