डाटा लीक में मोदी भी घेरे में

0
218
डाटा लीक में मोदी भी घेरे में

डाटा लीक में मोदी भी घेरे में मंगलवार को फ्रेंच हैकर इलियट एल्डर्सन ने अब प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के ऐप को लीक होने की श्रेणी में डाला है. ट्वीट्स की एक श्रृंखला में, एल्डर्सन ने दावा किया कि ऐप सहमति के बिना जानकारी ले रहा है और उपयोगकर्ताओं के आईपी एड्रेस को अमेरिका-आधारित वेबसाइट एपीआई.नरेन्द्रmodi को भेज रहा है.

कैसे-कैसे मिली जानकारी ?

Twitter पर ले जाकर, एल्डसन ने ट्वीट किया, “1 / इस अनुरोध में, @ नेरेन्द्र्रमोदी का # एंड्रॉइड # आवेदन उपयोगकर्ता की सहमति के बिना, अपने आईपी एड्रेस और अपने फोन के एक अनूठे पहचानकर्ता के बिना चुपचाप भेजता है. यह निजी डेटा वेबसाइट http: //api.narendramodi.in जो अमेरिका में स्थित है.”

2/ जैसे की ये एप्प यूरोप तक पहुंच चुका है इसे # GDPR नामक यूरोपीय नियम के साथ पालन करना चाहिए चूंकि एक आईपी एड्रेस को व्यक्तिगत डेटा माना जाता है, इसलिए उपयोगकर्ता को उसकी सहमति देनी चाहिए और इस डेटा संग्रह से निकलने में सक्षम होना चाहिए.

“3 / द @ नेरेन्द्र्मोदी का # एंड्रॉइड # अनुप्रयोग इन आवश्यकताओं को पूरा नहीं करता है जिसकी वजह ये यूरोपीय नियमन को तोड़ रहा है.” क्या ये अनुचित नहीं है.

“4 / इसके अतिरिक्त, उपयोगकर्ता की सहमति से नहीं पूछना Google Play डेवलपर वितरण अनुबंध का स्पष्ट तरीके से उल्लंघन करना है”.

“5 / अनलाइन फोन पहचानकर्ता @ नरेन्द्रमोदी # एंड्रॉइड # एपीप्लिकेशन द्वारा भेजे गए कई डिवाइस विशिष्ट जानकारी से बना है: बोर्ड, ब्रांड, निर्देश सेट का नाम, औद्योगिक डिजाइन का नाम, निर्माता, मॉडल, उत्पाद का नाम इत्यादि”.

“6 / अतः यदि आप अपने फोन पर @ नरेन्द्र्मोदी # एंड्रॉइड # अनुप्रयोग स्थापित करते हैं, तो आप अपनी सहमति के बिना @narendramodi को बहुत सारी डिवाइस की जानकारी दे रहे हैं”. जो की बेहद गलत बात है.

 क्या हुआ था पहले ?

कांग्रेस ऐप के बारे में ट्वीटिंग करते हुए फ्रांसीसी हैकर ने आरोप लगाया था कि जब कोई व्यक्ति Google PlayStore पर आधिकारिक कांग्रेस ऐप के माध्यम से पार्टी की सदस्यता के लिए आवेदन करता है, तो व्यक्तिगत डेटा पार्टी की सदस्यता पृष्ठ पर ऑनलाइन HTTP अनुरोध के माध्यम से एन्कोड हो जाती हैं. ‘फ्रेंच सुरक्षा शोधकर्ता’ जो ट्विटर पर इलियट एल्डर्सन के नाम से जाने जाते है, उन्होंने ‘नमो ऐप’ और आईएनसी ऐप पर सुरक्षा चिंताओं को ध्वजांकित करने के बाद से अब तक की सुर्खियों में कब्जा कर लिया है.

प्रमुख बिंदु :-

  • मोदी एप्प का डाटा हुआ लीक.
  • कौन जिम्मेदार.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here