फेसबुक और कैंब्रिज ऐनलिटिका डाटा लीक मामला इतना बढ़ गया है कि मार्क जकरबर्ग ने फेसबुक में कई सारे बड़े बदलाव कर दिए हैं. मोबाइल ऐप में और प्राइवेसी में किए गए इन बदलावों से यूजर्स प्राइवेसी सेटिंग्स और दूसरी जरूरी जानकारियां ढूंढ़ने में दिक्कत नहीं होगी. फेसबुक के मुताबिक यूजर्स की जानकारियां ऐक्सेस करने का सुरक्षित तरीका निकाला है. इसमें उनके पोस्ट, रिएक्शन, कॉमेन्ट्स, सर्च और कॉन्टैक्ट्स डिटेल्स होते हैं.

डाटा डाउनलोड आसान होने से इसे ऐक्सेस करना और डिलीट करना आसान हो गया है. कंपनी ने कहा है कि यह डाटा आपका है जिसे आप डाउनलोड कर सकते हैं. फेसबुक ने मोबाइल ऐप के सेटिंग्स मेन्यू में पूरी तरह से बदलाव करते हुए कहा की अब सभी सेटिंग्स को ढूंढना भी आसान होगा.

20 स्क्रीन्स पर मिलने वाली सेटिंग्स को एक ही जगह पर लाया गया है. फेसबुक के मुताबिक कौन से ऐप के साथ क्या जानकारी शेयर हो रही है, सारी जानकारी यूजर्स को मिलेगी. फेसबुक ने नए प्राइवेसी शॉर्टकअट को एड किया है. इस मेन्यू में डाटा कंट्रोल कर सकेंगे. इन बदलावों के बाद नई सेटिंग्स पहले से साफ और ढूंढने में आसान हो गई हैं.

सेटिंग्स मेन्यू में महत्वपूर्ण changes

फेसबुक यूजर्स के अकाउंट को ज्यादा सिक्योर बनाने के लिए एक्स्ट्रा लेयर ऐड करने का आॅप्शन दिया गया है जिसमें टू फैक्टर ऑथेन्टिकेशन शामिल है. पोस्ट से लेकर किसी भी प्रकार का डाटा जिसे शेयर किया है, डिलीट कर सकते हैं.यूजर्स पर उन जानकारियों को मैनेज कर सकते हैं जिनके आधार पर आपको ऐड दिखाए जाते हैं. इससे कौन सा विज्ञापन देखना है इसका कंट्रोल भी आपके हाथ में आ गया है. आपकी पोस्ट और इनफॉर्मेशन को कौन देख सकता है और कौन नहीं अब आप खुद इसे मैनेज कर सकते हैं.

अब यूजर्स अपने निजी डाटा को डाउनलोड और डिलीट कर सकते हैं. इस बारे में फेसबुक का तर्क है कि कुछ यूजर्स अपने पुराने पोस्ट डिलीट करना चाहते हैं जबकि कुछ का मकसद सिर्फ यह जानना हैं कि कौन सी जानकारियां फेसबुक स्टोर कर रहा है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here