‘फनी चुटकुलें जो बनाए आपके दिन को मज़ेदार’ –

  • एक छोटा बच्चा बहुत देर से घर के बाहर खड़ा दरवाजे की घंटी बजाने की कॉसिश कर रहा था.तो एक बूढ़ा आदमी आया और कहा:

बूढ़ा आदमी: क्या कर रहे हो बेटा?

बच्चा: अंकल, यह घंटी बजाना चाहता हूँ।

बूढ़ा आदमी (घंटी बजi के): ये लो बज गई, अब क्या है?

बच्चा: अब भागो!

  • बहू का पहला अफेयर सुनने के बाद ससुर ने बहू को मारा!

दूसरा अफेयर पता लगने पर पति ने मारा!

लेकिन सास हर बार चुप रही!

क्यूँ?

क्यूंकी सास भी कभी बहू थी!

  • टीचर: उसने खुद खुशी कर ली, उससे खुद खुशी करनी पड़ी, डिफरेन्स बताओ.

स्टूडेंट: पहले वाला पढ़ा लिखा बेरोज़गार था, दूसरा शादी शुदा था।

  • पति: कल मेरे सपने में एक लड़की आयी, वाह क्या लड़की थी?

पत्नी: अकेली आयी होगी?

पति: तुमको कैसे पता?

पत्नी: उसका पति मेरे सपने में जो आया था।

  • पुलिस (शराबी से): “रात के 1 बजे तुम कहां जा रहे हो?”

शराबी (पुलिस से): “मैं शराब पीने के दुष्परिणाम पर भाषण सुनने जा रहा हूं।”

पुलिस (शराबी से): “इतनी रात मैं तुम्हे कौन भाषण देगा?”

शराबी: “मेरी बीवी।”

  • एक माँ अपने 6 साल के बच्चे का फोटो खिंचवाने के लिए उसे फोटो-स्टूडियो लेकर गई।

फोटोग्राफर बच्चे को पुचकारते हुए बोला, “बेटा, मेरी तरफ देखो, इस कैमरे से अभी कबूतर निकलेगा।”

बच्चा एक दम से बोला, “फोकस एडजस्ट कर, जाहिलों जैसी बातें मत कर,

पोर्ट्रेट मोड यूज करना, मैक्रो के साथ, आइएसओ 200 के अंदर रखना। हाई रेसोलुशन में आनी चाहिए फोटो,

फेसबुक पे अपलोड करनी है, वरना पैसे नहीं मिलेंगे। साला, ‘कबूतर’ निकलेगा। तेरे बाप ने कबूतर डाला था कैमरे में?”

फोटोग्राफर: बेटा कौन से स्कूल में पढते हो?

बच्चा: आँगन बाड़ी।

हर बच्चा आईआईएन से नहीं होता!

फोटोग्राफर अभी तक बेहोश है।

  • पति रेडियो पर बिजी था।

पत्नी: क्या सुन रहे हो?

पति: मोदी जी के मन की बात।

पत्नी: मेरी तो कभी नहीं सुनते।

पति: तुम जो कहती हो उसे मन की बात नहीं,

मन की भड़ास कहते है।

  • पत्नी: मैं हर रोज़ पूजा करती हूँ। काश एक दिन श्री कृष्ण के दर्शन हो जाये!

पति: एक बार मीराबाई बन के ज़हर पीले। श्री कृष्ण क्या, सारे भगवान के दर्शन हो जायेंगे!

  • दोस्त: तेरी बीवी ने तुझे घर से क्यों निकाला,

पठान: साले तेरे कहने पर उसे चैन गिफ्ट की थी, इसीलिए निकाला।

दोस्त: चांदी की थी क्या?

पठान: नहीं साइकिल की।

  • संता के घर बेटी पैदा हुई.

उसके दोस्त बंता ने संता से कहा: “भाई, बेटी का बाप होना बड़ी मुश्किल जिम्मेदारी है। जब ये बड़ी होगी तो मोहल्ले के लड़के इसे छेड़ेंगे और तुझे बहुत तकलीफ होगी।”

संता: “मेरी बेटी को नहीं छेड़ेंगे।”

बंता: “क्यों?”

संता: “क्योंकि मैंने अपनी बेटी का नाम ‘दीदी’ रखा है।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here