सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान सोमवार को अमेरिका पहुंचे. करीब ढाई हफ्ते के दौरे में वे मंगलवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से भी मिलेंगे. रविवार को एक अमेरिकी टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में सलमान से सऊदी के बारे में कई तीखे सवाल कए गए. उन्होंने महिलाओं से लेकर सऊदी में चल रहे बदलावों पर अपनी राय रखी.सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान सोमवार को अमेरिका पहुंचे. करीब ढाई हफ्ते के दौरे में वे मंगलवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से भी मिलेंगे. रविवार को एक अमेरिकी टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में सलमान से सऊदी के बारे में कई तीखे सवाल कए गए. उन्होंने महिलाओं से लेकर सऊदी में चल रहे बदलावों पर अपनी राय रखी.

इस्लाम की राह चल रहा:-

प्रिंस सलमान ने बताया “सऊदी अरब शुरुआत से ही रूढ़िवाद इस्लाम की राह पर चला हैं. जो कि गैर-मुस्लिमों से सावधान रहना सिखाता है, महिलाओं को उनके मूलभूत अधिकारों से दूर रखता है और लोगों की सामाजिक जिंदगी को काफी बंदिशें लगा देता है, क्योंकि वो फिल्म नहीं देख सकते, थियेटर नहीं जा सकते और गाने नहीं सुन सकते”.

उन्होंने कहा, “ इन बंदिशों की वजह से हमारी पीढ़ी को सबसे ज्यादा परेशानी उठानी पड़ी है।” बता दें कि सऊदी में 1979 के बाद रूढ़िवाद की लहर के चलते मनोरंजन के सारे साधनों पर बैन लगा दिए गए थे. हालांकि, अपने विजन 2030 के तहत प्रिंस सलमान सऊदी को सॉफ्ट इस्लाम की तरफ ले जाना चाहते हैं. हाल ही में उन्होंने देशभर में मनोरंजन के साधनों को शुरू करने के आदेश दिए हैं.

महिलाएं पुरुषों के बराबर

एक वार्ता में सलमान से महिलाओं पर भी सवाल किया गया, जिसके जवाब में प्रिंस ने कहा कि महिलाएं पूरी तरह से पुरुषों के बराबर हैं. आखिरकार हम सब इंसान हैं, इस लिहाज से पुरुषों और महिलाओं में कोई फर्क नहीं हैं. प्रिंस ने कहा कि सरकार जल्द ही महिलाओं और पुरूषों को बराबर वेतन दिए जाने के लिए नियम बना सकती हैं.

ये बराबरी के लिए सऊदी का बड़ा कदम होगा. बता दें कि क्राउन प्रिंस बनाए जाने के बाद से ही सलमान ने महिलाओं के लिए पर लागू कई कड़े कानूनों को खत्म किया हैं. कानूनों में ढील के चलते अब सऊदी में महिलाओं को कार ड्राइविंग, स्टेडियम में एंट्री, खुद अपनी मर्जी से बिजनेस शुरू करने और कपड़े पहनने जैसी आजादियां दी गई हैं.

मैं गाँधी या मंडेला नहीं हूँ

प्रिंस सलमान पर सऊदी नागरिकों से टैक्स वसूलकर अपने ऊपर खर्च करने के आरोप लगते रहे हैं. इस बारे में पूछे जाने पर सलमान ने कहा ये उनका निजी मामला हैं. उन्होंने आगे कहा वों गरीब नहीं हैं अमीर हैं. उन्होंने आगे कहा वों उनके निजी खर्चे हैं और वों ना ही गाँधी है और ना ही मंडेला हैं.

प्रमुख बिंदु:-

  • प्रिंस का कहना इस्लाम की राह चल रहा.
  • महिलाएं पुरुषों से बराबर.
  • उन्होंने कहा वों मंडेला या गाँधी नहीं.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here