साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के दौरान बॉल टैंपरिंग मामले में दोषी पाए जाने के बाद ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और ओपनर बल्लेबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट पर इंटरनैशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने जुर्माना लगाया है. आईसीसी ने स्मिथ को एक मैच के लिए सस्पेंड किया है और 100% मैच फीस का जुर्माना लगाया है, वहीं ओपनर बल्लेबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट पर मैच फीस का 75% का जुर्माना लगाया गया है. उन्हें 3 डीमेरिट पॉइंट भी दिए गए हैं.
आईसीसी ने ट्विटर पर यह जानकारी दी लेकिन भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह इससे खुश नहीं है. भज्जी के नाम से मशहूर हरभजन ने ट्विटर पर अपनी नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने आईसीसी को टैग भी किया है और केप टाउन टेस्ट में बॉल टैंपरिंग मामले में सजा देने के बाद इस वैश्विक क्रिकेट संस्था को ‘पक्षपातपूर्ण’ रवैया अपनाने का आरोप लगाया है.

हरभजन ने ट्वीट किया

वाह आईसीसी वाहअच्छा ट्रीटमेंट और फेयर प्ले. बैनक्रॉफ्ट के खिलाफ सभी सबूत हैं, लेकिन उनके खिलाफ कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया जबकि हम में से 6 खिलाड़ियों को बिना किसी सबूत के साउथ अफ्रीका में ज्यादा अपील करने के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था. साल 2001 में साउथ अफ्रीका टेस्ट में 5 भारतीयों सचिन तेंडुलकर, वीरेंदर सहवाग, सौरभ गांगुली, शिवसुंदर दास, दीपदास गुप्ता और हरभजन पर मैच रैफरी माइक डेनिस ने विभिन्न अपराधों में एक टेस्ट का प्रतिबंध लगाया था.

आगे लिखा

सिडनी 2008 याद है? दोषी नहीं पाया गया था, इसके बावजूद 3 मैचों के लिए बैन किया गया. अलग लोग और अलग नियम’ 2008 के सिडनी टेस्ट में एंड्रयू साइमंड्स के खिलाफ कथित नस्लीय टिप्पणी के कारण हरभजन पर 3 टेस्ट का प्रतिबंध लगा था.
आपको बता दें कि ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ को बॉल टेंपरिंग मामले में एक मैच के लिए निलंबित करने के साथ ही उनपर 100 फीसदी मैच फीस लौटाने का जुर्माना लगाया गया है. आईसीसी की ओर से कहा गया है कि वे अनुचित लाभ पाने के लिए बॉल टेंपरिंग करने का फैसला लेने वाली पार्टी हैं. इसके साथ ही ऑस्‍ट्रेलियाई ओपनर कैमरन पर 75 फीसदी मैच फीस लौटाने का जुर्माना लगाया गया है. पूर्व कप्तान माइकल वान ने कहा , एक मैच का प्रतिबंध और मैच फीस का शत प्रतिशत जुर्माना स्मिथ के लिये. बेनक्राफ्ट पर 75 प्रतिशत जुर्माना और डिमेरिट अंक. यह समय मिसाल कायम करने का था और यह कैसी सजा सुनाई है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here