इंदौर फिर शर्मसार – मॉडल की स्कर्ट खिंची

0
472
इंदौर फिर शर्मसार - मॉडल की स्कर्ट खिंची
indore phir sharmsar

कुछ दिनों पहले इंदौर में 5 साल बच्ची के साथ बलात्कार और उसके बाद मर्डर की घटना से शर्मसार हुआ शहर एक बार फिर शर्मसार हो गया. रिपोर्ट की माने तो एक मॉडल अश्लील हरकत की शिकार हुई. इसका जिक्र मॉडल ने सोशल नेटवर्किंग साईट पर शेयर किया. वही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने डीजीपी इसके साथ-साथ इंदौर के कलक्टर को भी जांच के आदेश दिए है.

कैसे बयां किया मॉडल ने अपनी आपबीती :-

मॉडल कुछ इसतरह घटना को बयां करती है. उन्होने लिखा ये घटना 22 अप्रैल की है. मॉडल जब एक्टिवा से जा रही थी. इस क्रम में दो युवक जो की बाइक से थे उनका स्कर्ट खीचने की कोशिश की और कहा दिखाओ इसके नीचे क्या है?. इसी बीच उन युवकों को रोकने के क्रम में मॉडल महिला का संतुलन बिगड़ा और हादसे का शिकार हुई.

इंदौर फिर शर्मसार - मॉडल की स्कर्ट खिंची
indore phir sharmsar

मॉडल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर हादसे में लगी चोट की फोटो शेयर की. इसके तुरंत बाद शिवराजसिंह चौहान ने इस घटना को बेहद शर्मनाक बताया तथा शख्त से शख्त कार्यवाई करने को भी कहा. मॉडल ने अपनी इस घटना का विस्तार करते हुए कहा अगर ऐसे बदमास भीड़ वाले इलाके में इतना कुछ कर सकते है इसके बावजूद कोई मदद के लिए नही आया. उनका आगे कहना था अगर ये घटना सुनसान सड़क पर होती तो ना जाने क्या कर देते.

बुजुर्ग की ऐसी सोच कहा स्कर्ट पहनी हो इसलिए हुआ ऐसा :-

मॉडल ने बताया जब वो चोट की अवस्था में थी तो उनके दोस्त आए और पास के रेस्टोरंट में ले गए. वहां महिला मॉडल अपने दोस्तों से बात करने में मशगुल थी,तभी एक बुजुर्ग आए और कहने लगे स्कर्ट पहनी हो इसलिए हुआ ऐसा. क्या बुजुर्ग ऐसा सोचेंगे तो आज के बुजुर्ग को सही नसीहत कौन देगा. फिर क्या अंतर रह जाएगा बुजुर्ग और उन बदमाशों में.

नियत बदले कानून बनाने से कुछ नही होगा :-

जब नियत में ही होगा खोट तो कानून बनाने से सजा देने से क्या होगा?. कुछ नही होने वाला. समाज की सोच ऐसी है की लड़कियाँ कपड़े पहेनकर उकसाती है,जबकि कपड़े तो लड़के भी पहेनते है अपने मन के अनुसार तो लड़कियाँ क्यों नही?. क्या लड़कियाँ समाज में किसी भी मायने में क्या लडकों से कम है. लड़कियाँ 10 कदम नही बल्कि 100 कदम आगे है लडकों से,फिर ऐसा क्यों?. चरित्र बदले तो समाज बदलेगा,देश बदलेगा तब जाकर ऐसी सोच खत्म होगी. ये कहना आसान है मगर करना मुश्किल. प्रयास से सब कुछ संभव है. नियत बदले,देश खुद बदल जाएगा.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here