इस देश में मुसलमानों का सबसे बड़ा दुश्मन कोई हैं तो वों 'ओवैसी' हैं ? अहमद अली मेरठी का अपना विचार हैं जो वों प्रस्तुत कर रहें हैं. आज अपने मुल्क में दो तरह की धाराएं बह रही हैं. हिंदूओं में विनोद दुआ द वायर रवीश कुमार NDTV और एक चैनल एम के डी हैं जो भारत में हिंदू मुस्लिम डिबेट चल रही हैं, नफरत का माहोल बनाया जा रहा हैं, उस के खिलाफ शिद्दत से खड़े हो गए हैं. संसाधनों की कमी के बावजूद ये सरकारी साज़िश को बेनकाब कर रहे हैं जो सरकारी चैनल अच्छे दिन पर सवाल नहीं पूछ रहे हैं.

उन्होंने आगे विस्तार में कहा कुछ लोग बेरोजगारी, लो एन्ड आर्डर, बेंक लूट पर सरकार से सवाल करने की बजाए केवल मंदिर मस्जिद पर देश को बांटने का काम कर रहे हैं. यह चैनल सरकार से यह नहीं पूछते कि जब आप तीन तलाक पर संसद में बिल ला सकते हो तो मंदिर पर क्यों नहीं ला सकते. राफेल डील में बड़ा घोटाले की आशंका जताई जा रही है मगर मीडिया सरकार की पीठ थपथपा रहा हैं. ऐसे में लोग टीवी चैनलों से लोग भाग कर अब Youtube चैनल देख रहे हैं. दिन-ब-दिन इन के दर्शकों की तादाद बढ़ रही हैं.

मगर अफसोस यह है कि जिस तरह से हिंदुओं में से हिंदू ही मुसलमानों के हक की लड़ाई लड़ने के लिए अपनी कौम से भीड़ रहे है…

मगर अफसोस यह है कि जिस तरह से हिंदुओं में से हिंदू ही मुसलमानों के हक की लड़ाई लड़ने के लिए अपनी कौम से भाजपा और RSS से गालियाँ खा रहे हैं. मुसलमानों में से कोई मुस्लिम कट्टरपंथी दलों या मुस्लिम कुरितियों के खिलाफ कोई आवाज सुनाई नहीं दी. उन्होंने कहा मै हमेशा कहता हूँ हिंदू इस देश में न साम्प्रदायिक हैं न हिंसक है. मेरा अपना अनुभव हैं हिंदू मुसलमान से कहीं ज्यादा खुदा परस्त सहयोगी होते हैं.

यह जो नफरत भरी पोस्ट सोशल मीडिया पर फेलाई जाती हैं. यह  काम भाजपा की IT Cell और अवैसी की IT Cell कर रही हैं. अपने आसपास देखो कितने हिंदू भाई आप से नफरत कर रहे हैं. इस देश में मुसलमान का अगर कोई सब से बड़ा दुश्मन है तो वो अवैसी हैं. अगर इन हिंदुओं का कोई सबसे बड़ा दुश्मन हैं तो वो बीजेपी और कांग्रेस ही हैं. दिल्ली में सीलिंग चल रही हैं. नगर निगम में भाजपा है केंद्र में भाजपा हैं अगर नगर निगमों में आप पार्टी होती तो भाजपाई सड़कों पर कौन सा नृत्य कर रहे होते. देश की सोचिये.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here