जर्मन राष्ट्रपति की आज होगी मोदी से मुलकात : कई मुख्य समझौते होने की उम्मीद जर्मनी के राष्ट्रपति फ्रैंक वाल्टर आज श्टाइनमायर शनिवार को नरेन्द्र मोदी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात करेंगे. इस दौरान दोनों देशों के बीच कई अहम समझौते हो सकते हैं. बता दें कि वॉल्टर पत्नी एल्क बुडनबर्ग के साथ गुरुवार को भारत के पांच दिवसीय दौरे पर आए हैं.

कौंन-कौंन से अहम समझौते होंगे?

यूरोप में जर्मनी भारत का सबसे कारोबारी साझेदार हैं. ब्रेक्जिट के बाद फ्रांस और जर्मनी की भूमिका यूरोपीय संघ की राजनीति में बढ़ गई हैं. इस लिहाज से यह दौरा काफी अहम हैं. भारत चाहता है कि जर्मनी बेसिक इंफ्राटैक्चर, रिन्यूएबल एनर्जी, स्किल डेवलपमेंट और वॉटर मैनेजमेंट जैसे सेक्टरों में निवेश करे. दोनों देशों के बीच रक्षा, ट्रांसपोर्ट, वॉटर, टेक्नोलॉजी, शिक्षा जैसे सेक्टर क्षेत्रों में कई अहम समझौते हो सकते हैं.

18.76 लाख डॉलर का कारोबार है भारत और जर्मनी के बीच :-

दोनों देशों के बीच आर्थिक सहयोग बढ़ता जा रहा हैं. 2016-17 के दौरान दोनों के बीच 18.76 लाख डॉलर का कारोबार हुआ हैं. इसमें भारत का हिस्सा 7.18 लाख अरब डॉलर और जर्मनी का 11.58 लाख अरब डॉलर हैं. पिछले 7 सालों में भारतीय Companies ने जर्मनी में 140 प्रोजेक्ट में निवेश किया हैं. वही जर्मनी की ऑटो Companies जैसे बीएमडब्ल्यू, फॉक्स वागन भारत में काम कर रहे हैं. जर्मनी ने सफाई अभियान और मेक इन इंडिया में भी निवेश किया हैं.

राइन नदी के किनारे बसे जर्मनी के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य नॉर्थ राइन-वेस्टफेलिया से भारत के साथ सबसे ज्यादा 24.11% कारोबार होता हैं. जर्मनी में एक लाख 8 हजार से ज्यादा भारतीय रहते हैं. यहाँ 15 हजार छात्र हैं.

जमा मस्जिद गए वाल्टर :-

जर्मनी के राष्ट्रपति फ्रैंक वाल्टर श्टाइनमायर को पत्नी एल्क बुडनबर्ग के साथ शुक्रवार को दिल्ली की जामा मस्जिद देखने पहुंचे. इससे पहले गुरुवार को वे वह बनारस और सारनाथ गए थे. इससे साथ ही वाल्टर शनिवार को चेन्नई भी जाएंगे. चेन्नई जर्मन कारोबारियों का बड़ा हब हैं. 62 साल के वाल्टर जर्मन राजनीति के बड़े नेता हैं. इससे पहले वें 2008 में बतौर विदेश मंत्री और 2015 में डिप्टी चांसलर के तौर भारत आ चुके हैं.

ये जर्मन राष्ट्रपति का पहला विदेशी दौरा है :-

जर्मनी में हाल ही में चुनाव के 6 महीने बाद चांसलर अंगेला मर्केल के नेतृत्व में नई सरकार बनी है. इसके राष्ट्रपति फ्रैंक वाल्टर का यह पहला विदेश दौरा हैं.

प्रमुख बिंदु :-

वाल्टर करेंगे मोदी से मुलाकात.

कई समझौते पर होंगे हस्ताक्षर.

18.76 लाख डॉलर का कारोबार है भारत जर्मनी के बीच.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here