काले हिरण पर इतना बवाल क्यों
काले हिरण पर इतना बवाल क्यों

काले हिरण का नाम आप जैसे ही सुनते है आपके मन में तुरंत ख्याल आता है की सलमान खान. अभी कुछ दिनों पहले जोधपुर के कोर्ट ने सलमान खान को दोषी पाया और 5 साल की सजा के साथ ही साथ 10,000 रुपए का जुर्माना भी लगाया. हम सभी जानते है की बेल पर सलमान रिहा हो गए है लेकिन ये चीज बेहद खास है किसी विशिष्ट जानवर की हत्या करना अपराध है जुल्म है. क्या अपराध इसके अलावा नही हो रहे?. उसका निपटारा कोर्ट कब करेगी?. खैर ये बहुत बड़ा और पेचीदा विषय है आइए जानते है काले हिरण के शिकार की संख्या में गिरावट आने का क्या है मुख्य कारण और ये कहाँ-कहाँ पाए जाते है.

काले हिरण मूलतः भारत के अलावा नेपाल,पाकिस्तान जैसे देशों में भी पाए जाने वाले हिरण के विशेष प्रजाति में से एक है. बंगलादेश में ये जहाँ विलुप्त हो चुके है वही भारत में ये बहुत कम की मात्रा में रह गये है. अगर 20वी शताब्दी से पहले की बात करें तो इनकी संख्या बहुतायत थी . ये समझा भी जा सकता है की पहले वनों का भण्डारण था बहुतायत में थी लेकिन अब ना ही वन रह गये है और ना ही काले हिरण की विलक्षण जाति रह गयी है.

ऐसे देखा जाए तो जैसे काले हिरण की संख्या में गिरावट आई है वैसे ही पहले यानि की बीसवी सदी के पहले इनके झुंड बहुतायत थे ढेर सारे थे. लेकिन अब इनके झुंड बिखरे हुए है कम हो गये है. ऐसा इसलिए भी हुआ है क्यूंकि वनों की कटाई काले हिरण की शिकार की वजह भी इन सभी का मुख्य कारण में से एक है.

मनुष्य अपने निवास स्थान में बढ़ोतरी करते जा रहे है और काले हिरण के निवास स्थान का आलम यु है की उनके निवास स्थान में गिरावट होती जा रही है. क्या कोर्ट को इस बात का ध्यान नही रखना चाहिए की अगर काले हिरण का निवास नही होगा तो रहेंगे कहा. अगर वो नही रहेंगे तो आप किसको और किसलिए सजा देंगे. नोट करने वाली बात ये भी है की भारतीय अधिनियम 1972 के तहत काले हिरण की शिकार को निषिद्ध(हराम माना गया है). सवाल ये भी है की अगर हराम माना गया है तो सलमान खान को 20 साल के बाद सजा क्यों दी गई.?.

काले हिरण का हिन्दू धर्म से क्या है संबंध?

आपकी जानकारी के लिए आपको बता दे हिन्दू धर्म को काले हिरण से हमेशा से जोड़ा जाता रहा है. रिपोर्ट की माने तो राजस्थान के बिसनोई समाज काले हिरण को अपने परिवार का सदस्य मानते है. बिसनोई समाज की ये विशेष पहल थी की सलामन खान के केस को बंद नही होने दिया गया.

जब सलमान को सजा मिली तो कोई खुश हो या ना हो बिशनोई समझ उस दिन खुशियाँ मना रही थी. काले Hiran को बिशनोई समाज अपने बच्चे की तरह मानते है. आपकी जानकारी के लिए आपको बताते चले बिशनोई समाज को पर्यावरण प्रेमी माना जाता है. लेकिन अगर बात काले किरन की आ गयी तो उनके प्रति इनका खास स्नेह है.

प्रमुख बिंदु :-

  • जाने काले हिरण को मरना कैसे है क़ानूनी गुनाह?.
  • जाने कहाँ पाए जाते है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here