कांची शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती का हुआ निधनकांची शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती बुधवार को कांचीपुरम के एक निजी अस्पताल में उनका निधन हो गया. वह बयासी वर्ष के थे . उन्हें diabetes थी. कांची विदूषक को सांस लेने मे बहुत तकलीफ  भी  होने लगी थी . उन्हें पिछले महीने चेन्नई के राम चंद्र अस्पताल में भर्ती कराया गया था. रिपोर्ट के अनुसार उनके Blood Sugar Level के स्तर में कमी आई थी . हालांकि, उन्हें हॉस्पिटल से छुट्टी मिल गई थी. और उन्होंने सामान्य गतिविधियां भी शुरू कर दी थी. उन्होंने नवंबर, 2017 में नई दिल्ली का दौरा किया था.

इन सभी के बावजूद उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था. वह कांची कामकोटी पीठम के 69 वें बिशप थे. उन्हें मार्च, 22, 1954 को Chanra shekharendra Sarawasati Swamigal  के उत्तराधिकारी के रूप में रखा गया था. कांचीपुरम में आज का दिन दुःख का है. और मठ के लिए चिंता की घरी भी है . अगर वह स्वस्थ थे, तो Sugar के स्तर इतनी कम कैसेहुई कि उनका देहांत हो गया?

कांची शंकराचार्य shankararaman की  हत्या के मामले में आरोपित  थे

आध्यात्मिक कांची को shankararaman के  हत्या के मामले में आरोपित ठहराया गया थे. shankararaman दक्षिण भारत के राज्य तमिलनाडु के कंचिपुरम में वरधाराज परम मंदिर के प्रबंधक थे. उनकी हत्या मंदिर के परिसर मे  3 सितम्बर 2004 को कर दी गयी थी. तमिल साप्ताहिक नाकीकेन में खोजी पत्रकार धनसेकरन प्रकाश की रिपोर्ट से पता चलने के बाद Jayendra Saraswati और कांची मट्ट के  विजेंद्र सरस्वती ने आत्मसमर्पण किया जिसके साथ ही उन दोनों की गिरफ्तारी भी हुई. क्या उन्हें सजा दी गयी या नहीं?

shankararaman ने कांची के संतों और कांची मठ के कामकाज के खिलाफ लगातार आरोप लगाते रहे है . उन्होंने आरोपों के साथ-साथ मठ को कई पत्र भी भेजे थे. Jayendra Saraswati को आंध्र प्रदेश में 11 नवंबर 2004 को दिवाली पर गिरफ्तार किया गया था. विजेंद्र को 10 जनवरी 2005 को मठ परिसर में गिरफ्तार किया गया था. इसलिए, मठ संत के लिए पहले से ही फाइलें खोली जा रही हैं. यहां तक कि वे हत्या की गतिविधियों में भी शामिल रहने की आशंका जताई गयी. अगर उन्हें दोषी ठहराया जाता है तो उन पर भी कुछ प्रश्न चिह्न पूछा जायेगा?

सबसे पहले तो हमे ये प्राथना करनी चाहए की कांची शंकराचार्य की आत्मा को शांति मिले. उन्होंने Matt के लिए जितने भी अभूतपूर्व कार्य किये है उनके लिए. उन्होंने जितने सारे काम Matt के लिए किये हैं Matt उनका पुरे जीवनकाल के लिए आभारी रहेगा.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here