कठुआ केस ने लिया साम्प्रदायिक रंग

0
139
कठुआ केस ने लिया साम्प्रदायिक रंग
कठुआ केस ने लिया साम्प्रदायिक रंग
कठुआ केस ने लिया साम्प्रदायिक रंग
कठुआ केस ने लिया साम्प्रदायिक रंग

जम्मू कश्मीर के कठुआ में हुए 8 साल की मुस्लिम बच्ची के साथ हुए रेप ने देखते ही देखते साम्प्रदायिक दंगे का रूप ले लिया है. अगर बात राज्य की करें तो हिन्दू बहुसंख्यक इलाके जम्मू से साथ–साथ कठुआ,साम्बा,उधमपुर विरुद्ध मुस्लिम बहुसंख्यक कश्मीर घाटी के साथ चेनाब घाटी के रूप में बंटता हुआ दिखाई दे रहा है. ये तो कुछ भी नही है जम्मू कश्मीर की क्राइम ब्रांच पर लगातार उंगलिया उठाए जा रहे है. क्या कठुआ केस में बस इसकी कमी रह गई थी?.

आरोपी कौन ?

रिपोर्ट की माने तो स्पेशल पुलिस अधिकारी दीपक खजुरिया समेत आठ लोगों को आरोपी बनाया गया है तथा उन्हें गिरफ्तार भी किया जा चुका है. जानकारी की माने तो खजुरिया को 10 फ़रवरी को गिरफ्तार किया गया था. सूत्रों का ये भी कहना है की आगे की जांच करने के लिए दो सिख पुलिस अफसरों की न्युक्ति की बात कही गई है. बताया जा रहा है मामले की जांच हरमिंदर सिंह और भूपिंदर सिंह करेंगे.

आखिर कैसे हुई बच्ची की मृत्यु ?

रिपोर्ट की माने तो 8 साल की बच्ची को नशे वाली दावा देकर रखा गया था. इसके बाद बच्ची की हत्या से पहले हवस और अपनी मानवीयता की हद को पार कर दरिंदो ने बच्ची को हवस की शिकार बनाया. बताया जाता है 6 लोगों ने कथित तौर पर इस इस बच्ची के साथ बलात्कार किया. बच्ची का बलात्कार मंदिर में किया गया फिर बाद में पत्थर से कुचलकर उसे मार दिया गया. ऐसी बर्बरता से मृत्यु कौन करता है भला?. क्या गुस्सा की भावना से किया ऐसा या फिर कोई कारण है ?.

1 मार्च को हिन्दू मंच ने मेल की जांच सीबीआई से कराने को लेकर रैली निकाली थी. इस रैली में भाजपा के दो मंत्री वन और पर्यावरण मंत्री और उद्योग मंत्री चन्द्र प्रकाश गंगा ने शिरकत की थी. अगर बात और लोगों की करें तो इनके साथ कठुवा का प्रधिनिधित्वा राजीव जस्तोरिया करते है जबकि हीरानगर का प्रतिनिधित्वा कुलदीप राज करते है दोनों इस रैली में शामिल हुए.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here