कुछ अनसुने भारतीय कानून जिनका ज्ञान हर भारतीय को जरुरी

0
291
कुछ अनसुने भारतीय कानून जिनका ज्ञान हर भारतीय को जरुरी
कुछ अनसुने भारतीय कानून जिनका ज्ञान हर भारतीय को जरुरी

अगर आप भारत में रहते हो तो भारतीय कानून का ज्ञान भी जरुरी है, अगर आप या कोई और इन भारतीय कानून को तोड़ता है तो वो सजा का पात्र होता है, जिसके तहत उचित सजा भी दी जा सकती है. इन भारतीय कानून का जानना हर भारतीय के लिए जरुरी है. इन कानून को ना तोड़ें और अगर कोई तोड़ता है तो उसकी शिकायत करें. भारत में कई लोग ऐसे होंगे जिन्हें इस बारें में नहीं पता. क्या आपको पता है इन 5 भारतीय कानून के बारें में.

1. भारतीय महिलाओं की गिरफ्तारी

भारतीय कानून के हिसाब से कोड ऑफ़ क्रिमिनल प्रोसीजर, सेक्शन 46 के हिसाब से भारतीय महिलाओं की शाम को छह बजे के बाद पुलिस कभी भी दोषी महिला को गिरफ्तारी नहीं किया जा सकता है.  भले हि महिला ने कितना भी बड़ा क्राइम किया हो. अगर पुलिस ऐसा करती है तो महिला पुलिस के खिलाफ शिकायत दर्ज करा सकती है. इस मामले में शामिल सभी पुलिस वालों को या जिसके आर्डर पर पुलिस काम कर रही है उस पुलिस अधिकारी कोअपनी नौकरी से रिश्ता तोडना पढ़ सकता है साथ ही एक साल की सजा का भी प्रावधान है.

2. सिलेंडर के फटने से

भारतीय कानून के हिसाब से पब्लिक लायबिलिटी पॉलिसी के हिसाब से अगर आपके घर में किसी भी कारण से सिलेंडर फट जाता है, और जान माल का नुक्सान होता है तो आप गैस एजेंसी के ऊपर चालीस लाख तक का बीमा का क्लेम कर सकतें हैं. अगर कोई भी गैस एजेंसी इस क्लेम को माने से इनकार करती है तो आप उसके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा सकतें हैं. अगर पुलिस की इस पूरी कार्यवाही में एजेंसी को दोषी पाए जाने पर एजेंसी को या तो बंद क्र दिया जायेगा या लाइसेंस रद्द कर दिया जायेगा. और आपको क्लेम की उचित रकम भी मिलेगी.

3. आप 5 स्टार होटल में

भारतीय कानून के हिसाब से इंडियन सीरीज एक्ट, 1887 के अनुसार भारत के किसी भी छोटे से छोटा होटल से लेकर 5 स्टार तक आप पानी मांग कर पी सकतें हैं या वाश-रूम का इस्तेमाल कर जिसके लिए आप को कोई चार्ज नहीं देना पड़ेगा और अगर कोई होते का मालिक या मेनेजर या कर्मचारी आपको ऐसा करने से रोके तो या पानी देने से इनकार करे तो आप उसके खिलाफ या उस होटल के खिलाफ शिकायत दर्ज करा सकतें हैं. अगर होटल वाले दोषी पाए गए तो इसके लिए होटल को सीज कर दिया जायेगा या लाइसेंस रद्द कर दिया जायेगा.

4. गर्भवती महिला

भारतीय कानून के हिसाब से मैटरनिटी बेनिफिट एक्ट 1961 के अनुसार अगर किसी भी गर्भवती महिला को नौकरी से निकला जाये तो वह महिला कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज करा सकती हैं, कंपनी को पहले 3 महीने का नोटिस देना अनिवार्य होगा उसके साथ इलाज का खर्चे का कुछ प्रतिशत रकम देनी होगी. अगर कंपनी ऐसा नहीं करती है तो उसके खिलाफ शख्त कदम उतःये जायेंगे उस कम्पनी की शिकायत रोजगार संघटन में कर सकते हैं, दोषी पाए जाने पर कम्पनी का लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा या कम्पनी को जुर्माना भरना होगा.

5. पुलिस अफसर

भारतीय कानून के हिसाब से आईपीसी के सेक्शन 166ए के अनुसार कोई भी पुलिस वाला अगर आपकी FIR दर्ज करने से मना करता है या कोई भी पुलिस वाला इसके लिए आपसे पैसे लेता है या आपकी रिपोर्ट दर्ज नहीं करता तो आप इसकी शिकायत उसके सीनियर अधिकारी को कर सकतें हैं. दोषी पाये जाने पर उसे छह महीने से एक साल तक की सजा हो सकती है. या फिर अपनी नौकरी से भी हाथ धोना पड़ सकता है.

ये थे वे 5 कानून जो हर भारतीय को पता होना आवश्यक हैं.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here