क्या चीन हमेसा के लिए जिनपिंग का?चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग शनिवार, 17 मार्च को चीन के रबर स्टैम्प संसद, नेशनल पीपल्स कांग्रेस द्वारा राष्ट्रपति के लिए दो-मुकाबले के नियम को खत्म करने के बाद, दूसरे पांच साल के कार्यकाल के लिए चुने गए. इससे सबसे अच्छी खबर जिनपिंग के लिए ये भी हैं की उनका आजीवन कार्यकाल में रहना का रास्ता भी साफ हो गया. जिनपिंग शक्तिशाली केंद्रीय सैन्य आयोग के प्रमुख के रूप में भी चुने गए हैं, चीनी सेना के समग्र उच्च आदेश भी इनके अनुमति के नहीं लिए जाएंगे. 11 मार्च को, एनपीसी के 2,900 से अधिक प्रतिनिधि सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना द्वारा प्रस्तावित राष्ट्रपति और उपाध्यक्ष की दो-अवधि की सीमा को हटाने के लिए संवैधानिक संशोधन के लिए मतदान किया था.

मूल रूप से Xi Jinping 2023 में सीपीसी और राष्ट्रपति पद के अध्यक्ष के रूप में अपने

मूल रूप से Xi Jinping 2023 में सीपीसी और राष्ट्रपति पद के अध्यक्ष के रूप में अपने दो-अवधि की सीमा के बाद रिटायर हो जाएंगे. जिनपिंग 2013 में राष्ट्रपति बने थे. माओ की मौत के बाद पार्टी ने दो-स्तरीय सीमा को अपनाया ताकि सामूहिक नेतृत्व को यह सुनिश्चित किया जा सके ऐसी गलतियाँ ना दुबारा ना हो. जैसे पहली घटनाओं में लाखों मारे गए थे. एनपीसी को जिनपिंग की करीबी वांग क्यूशन को उपाध्यक्ष के रूप में चुनने और Xi के तहत एक नई सरकार का अनावरण करने की तैयारी की जाएगी.

वांग चीन में सबसे अधिक डरे हुए अधिकारी हैं, क्योंकि उन्होंने Xi द्वारा शुरू किए गए पिछले पांच वर्षों से भ्रष्टाचार विरोधी अभियान चलाया था, जिसमें 100 से अधिक मंत्रियों और शीर्ष जनरलों समेत 1.5 मिलियन से अधिक अधिकारियों को दंडित किया गया था. चीन के हालिया इतिहास में ये सबसे बड़ी कार्यवाई में से एक थी.

प्रीमियर ली केकियांग को छोड़कर

प्रीमियर ली केकियांग को छोड़कर, केंद्रीय मंत्रालय के पूरे कैबिनेट और गवर्नर सहित सभी प्रमुख पद, अधिकारियों का नया set होगा. अधिकारियों की नयी सेट के लिए भारत के नजरिए से, चीन के विदेश मंत्री Wang wi को व्यापक रूप से राज्य के काउंसिलर बनने की उम्मीद हैं. वों देश के शीर्ष राजनयिक में से एक हैं.

इस पदोन्नति से उन्हें भारत-चीन सीमा वार्ता के लिए चीन के विशेष प्रतिनिधि बनने की अनुमति मिल जाएगी. यह पद वर्तमान में Yang Jiechi के पास हैं. जिन्हें पोलित ब्यूरो के लिए बढ़ा दिया गया हैं, चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) की शीर्ष नीति संस्था हैं. रिपोर्ट की माने तो नए सरकार की घोषणा 17 मार्च को साउथ चाइना में की जाएगी.

प्रमुख बिंदु इस प्रकार हैं:-

  • चीनी राष्ट्रपति का दुबारा चुना जाना तय.
  • भ्रष्टाचार के खिलाफ जारी रखेंगे लड़ाई.
  • नए तरीके से मंत्रालय का होगा गठन.
  • 17 मार्च साउथ चाइना में होगी ताजपोशी.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here