क्या है जज लोया का केस?

0
150
क्या है जज लोया का केस?
क्या है जज लोया का केस?
क्या है जज लोया का केस?
क्या है जज लोया का केस?

केस क्या था ये जानने से पहले सबसे जाने आखिर कौन थे जज लोया?. जज लोया सोहराबुद्दीन केस के सीबीआई के जज थे. जस्टिस लोया की मौत 30 नवंबर और 1 दिसम्बर को 2014 की रात को हुई थी. बताया जाता है की वो अपने जज की बेटी में शादी में शामिल होने गए थे. जज लोया की वहां तबियत ख़राब होने की बात कही गई जिसके बाद उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहाँ उनकी मौत हो गई. डॉक्टरों ने उनके मौत की वजह हर्ट अटैक बताई. जब लोया की मौत हुई उस वक्त बॉम्बे हाई कोर्ट पर चार और जज उक्त स्थान पर मौजूद थे.

अमित शाह भी थे अभियुक्त :-

क्या है जज लोया का केस?
क्या है जज लोया का केस?

रिपोर्ट की माने तो जज लोया जिस केस की सुनवाई कर रहे थे उसमे भाजपा के वर्तमान अध्यक्ष और गुजरात सरकार में रहे गृह मंत्री रहे अमित शाह प्रमुख अभियुक्त के रूप में थे. अमित शाह को लोया के मारने के तुरंत बाद सीबीआई जज की विशेष अदालत ने अमित शाह को बरी कर दिया था.

लोया के दोस्त उदय गवारे की बात करें तो उनका कहना था “जब उनकी मौत हुई उस समय सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले की सुनवाई कर रहे थे तथा वो इस केस को लेकर काफी तनाव में थे”. उनके दोस्त कहते है वो उस समय बेहद तनाव में थे तथा जस्टिस लोया बताते थे काफी सीरियस केस है. उन्होने साथ ही किसी के फोन आने का भी जिक्र किया था. जस्टिस लोया कहते थे वो जो भी करेंगे कानून के भीतर रहकर ही करेंगे. दावा ये भी किया गया है परिवार को 100 करोड़ रिश्वत के तौर पर देने की कोशिश भी की गई.

उदय के शादी के अंतिम पलों पर जब लोया थे साथ :-

अपनी शादी के दिनों को याद करते हुए उदय कहते बयां करते है 11 जून 1989 को उनकी शादी थी. वो दो दिन लोया उनके घर पर थे. उन्हें मेकअप कैसा करना है, कपड़े कैसे पहनने हैं, सब उन्होंने ही तय किया था. टाई तक बंधी थी. “वो सारे पल ख़त्म हो गए. ये सब सोचकर उनकी आंखों में आंसू आ जाते हैं.” जिस दिन उनकी मौत हुई थी, गावारे उनके घर गए थे. उन्होने बताया कि जस्टिस लोया के पिता और अन्य परिजन उनकी मौत को प्राकृतिक मौत नहीं मान रहे थे. उनके मन में मौत को लेकर कई सवाल थे.

जस्टिस लोया की मौत पर आखिर क्यों उठे सवाल ?. हुआ यु की लोया की मौत की हालात पर उनकी बहन ने शक जाहिर किया था. इसके साथ ही इसे सोहराबुद्दीन एनकाउंटर से भी जोड़ा गया. इसके साथ ही परिवार को रिश्वत देने की भी बात कही गई थी.

सोहराबुद्दीन कौन और उनका एनकाउंटर कैसे हुआ ?

रिपोर्ट की माने तो सोहराबुद्दीन शेख का संबंध पाकिस्तान के आतंकी संगठन लस्कर-ऐ-तयेबा से था. सीबीआई की माने तो गुजरात के आतंवादी दस्ते ने सोराबुद्दीन और उनकी बीवी को उस समय अगवा कर लिया गया जब वे दोनों हैदराबाद से महाराष्ट्र के सांगली जा रहे थे. उसके बाद 2005 में सोहराबुद्दीन की कथित फर्जी तौर पर हत्या कर दी गई. उसी वक्त गुजरात के गृह मंत्री अमित शाह थे. उनपर घटना में शामिल होने का आरोप लगाया गया.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here