क्यूँ वीडियोकॉन अपनी कंपनी जनरल insurance बेचने को हुआ तैयार ? कैश के तंगी से जूझ रही वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज ने जनरल insurance ग्रुप से बाहर निकलने की घोषणा की हैं. कंपनी ने इसकी पूरी हिस्सेदारी डीपी जिंदल ग्रुप और इनाम सिक्युरिटीज को बेचने का फैसला लिया हैं. हालांकि इस डील में मिलने वाली रकम का खुलासा नहीं किया गया हैं. वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज को एनसीएलटी में बैंकरप्सी केस का सामना भी करना पड़ रहा हैं.

कौंन सी वों तीन कंपनी जो खरीदेंगी बिज़नेस?

इस कंपनी का नाम लिबर्टी जनरल इन्श्योरेंस कंपनी है, जिसमें डीपी जिंदल ग्रुप की 26 फीसदी और इनाम सिक्युरिटीज की 25 फीसदी हिस्सेदारी होगी. वहीं बाकी 49 फीसदी हिस्सेदारी फॉरेन पार्टनर लिबर्टी म्युचुअल इन्श्योरेंस ग्रुप के पास होगी, जो एक अमेरिकी कंपनी हैं.

अमेरिका की इन्श्योरेंस कंपनी ने बीते साल दिसंबर में इस ज्वाइंट वेचंर में अपनी हिस्सेदारी 26 फीसदी से बढ़ाकर 49 फीसदी कर ली थी. कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव और व्होल टाइम डायरेक्टर रूपम अस्थाना ने कहा कि कंपनी ने रिब्रांडिंग के लिए जरूरी रेग्युलेटरी मंजूरियां हासिल कर ली हैं और जल्द ही इसका नाम बदलकर लिबर्टी जनरल इन्श्योरेंस करने के लिए रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज में अप्लाई करेगी.

Insurance मार्केट में पोजीशन मजबूत करेगी वीडियोकॉन ग्रुप:-

बोस्टन-मासाच्युएट्स बेस्ड कंपनी लिबर्टी म्युचुअल ने एक बयान में कहा, ‘नई पार्टनरशिप के साथ हम अपना विस्तार करेंगे और जनरल इन्श्योरेंस category में अच्छी क्वालिटी के प्रोडक्ट्स व सर्विसेस देने की अपनी क्षमताओं के साथ  भारत की तेजी से उभरती जनरल इन्श्योरेंस कंपनीज में अपनी पोजिशन मजबूत करेंगे. हम भारतीय बाजार के लिए प्रतिबद्ध हैं.

अच्छी सेवाएं देने के लिए प्रतिबद्ध:-

इस पार्टनरशिप पर टिप्पणी करते हुए लिबर्टी mutual के प्रेसिडेंट और सीईओ मैट निकर्सन ने कहा ‘हम बेहतर सेवाएं और consumers की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत में अपने Insurance ज्वाइंट वेंचर को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमें भरोसा है कि वित्तीय तौर पर मजबूत दो लोकल प्रमोटर्स के होने से भारत में कस्टमर्स और डिस्ट्रीब्यूशन पार्टनर्स को ज्यादा तेजी से सर्विसेस देने में मदद मिलेगी. ’

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here