महाअभियोग का नोटिस खारिज – कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट जाएगी

0
155
महाअभियोग का नोटिस खारिज - कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट जाएगी
mahabhiyog ka notice kharij

राज्य सभा के सभापति और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू द्वारा चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ विपक्ष के महाभियोग को खारिज होने के बाद कांग्रेस इसके विरोध में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने वाली है लेकिन इस मामले में काफी ढेर सारे दाव पेंच हैं. अगर विपक्ष नायडू के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख करता भी है,तो इसे सुनेगा कौन?.

जानकारी की माने तो पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के कार्यकाल के दौरान अटॉर्नी जनरल रहे वरिष्ठ वकील और राज्य सभा के सदस्य एमपी पराशरन का कहना है कि उपराष्ट्रपति द्वारा महाभियोग प्रस्ताव खारिज होने के बाद इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती नहीं दी जा सकती है.

कैसे होगी कांग्रेस की समस्या ख़त्म :-

महाअभियोग का नोटिस खारिज - कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट जाएगी
mahabhiyog ka notice kharij

कांग्रेस अगर सुप्रीम कोर्ट में अपील करने के बारे के बारे सोच रही है तो इसमे कई सारे दाव-पेंच है. रिपोर्ट की माने तो इन सभी प्रशाशनिक पहलु को देखेगा कौन?. माना की चीफ जस्टिस मास्टर ऑफ रोस्टर होते है क्या वे खुद अपने खिलाफ याचिका सुन पाएंगे?. महाभियोग द्वारा जारी नोटिस में सुप्रीम कोर्ट के 4 जज शामिल हैं.

क्या जस्टिस सीकर सुनेंगे केस या कोई और :-

जानकारी की माने तो अगर चीफ जस्टिस न्यायिक और प्रशाशनिक दोनों मामले से अलग हो जाते है तो सुनवाई की याचिका पदक्रम में सीनियर जज ऐ के सिकरी के द्वारा की जाएगी. याचिका में अदालत से तब तक के लिए महाभियोग प्रक्रिया को गोपनीय रखने के लिए कहा गया है तथा अनुरोध भी किया गया है जब तक जज दोषी साबित नही हो जाते.

पूर्व अटॉर्नी जनरल ने क्या कहा :-

वही अगर बात करें पूर्व अटॉर्नी जनरल की उनका कहना था “ये सारी बातें स्पीकर और चेयरमैन के अधिकारक्षेत्र का मामला है”. उनका आगे कहना था ये बात भी बेहद महत्वपूर्ण है की सांसदों द्वारा लाए गए प्रस्ताव पर जांच कमिटी का गठन करना सही मानते या समझते भी या नही. अगर उनकी जानिब से पहली नजर में ये लगता है की इन सबपर ऐसा मामला नही बनता है,तो वो नोटिस खारिज कर देते है और साथ ही ये मामला यही खत्म हो जाता हैं.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here