मॉडर्न जिंदगी में खुश रहने के मॉडर्न तरीकेएक रिसर्च हो रही हैं होवार्ड में पिछले 75 साल से वर्ल्ड की सबसे बड़ी रिसर्च. जिनकी लाइफ खुशी खुशी निकलती और जिनकी Frustrate होकर निकलती हैं. उनमे सबसे अधिक फर्क क्या हैं. जब लोग 15 साल के थे तब से ट्रैक करना शुरू किया  गया. क्या फर्क होता है उनमे जिनकी लाइफ अच्छी होती हैं या जिनकी लाइफ Frustrate होती हैं.

जो बात सामने निकल कर आई वों बस एक लाइन में उसका हल हैं. रिसर्च के बाद ये बात सामने निकल कर आई की जिनकी रिलेशनशिप अच्छी होती हैं तो वों खुश रहते हैं और जिनकी रिलेशनशिप स्टेबल नहीं होती हैं वों लोग दुखी रहते हैं. ये वाकई surprising  हैं. हम क्या सोचते हैं success हैं तो हम खुश हैं पर ऐसा बिलकुल नहीं हैं.

ये सबसे बड़ा कारण हैं खुश रहने का

ये सबसे बड़ा कारण हैं खुश रहने का. हम ना जाने किन-किन चीजों के पीछे भागते रहते हैं. और रिलेशनशिप को ignore करते रहते हैं. आपने सब कुछ achieve कर लिया पर रिलेशनशिप ही खोखली हैं तो समझ लीजिए आपका कुछ नहीं हो सकता.

क्या करेंगे ऐसी लाइफ का?. क्या कभी आपने सोचा हैं. एक अच्छा रिलेशनशिप कैसे बनाए?. सबसे पहली चीज है समझदारी. चाहें कैसा भी समय हों ये मायने नहीं रखता. आपको अपने पार्टनर के पार्टनर के प्रति समझदार रहें. Situation चाहें जो भी हों समझदारी होनी अतिआवश्यक हैं. समय कभी दुःख भरा होगा कभी खुशी भरा होगा. सबसे अच्छी बात ये है की हमे ये सारी बातें पता हैं. बस जरुरत हैं उसे अमल में लाने की.

अगर आपका पार्टनर Dishonest  हैं

अगर आपका पार्टनर Dishonest  हैं फिर भी समझदारी बरकरार रखें. कृपया करके जज और justify ना करें. अगर सामने वाला पार्टनर को समझ लेना ही तो समझदारी हैं. होवार्ड में एक और अच्छी बात सामने निकल कर आयी की एक अच्छी रिलेशनशिप ये नहीं जिसमें झगड़े ना हो या कोई कष्ट ना हो. एक अच्छा रिलेशनशिप वों हैं जिसमें आप आख बंद किए विश्वास रखते हों. इंग्लिश में इससे ‘trust blindly’ भी कहा जाता हैं.

वैसे ही मान लीजिए आप अच्छी दोस्ती किसे कहेंगे?. उससे नहीं की अगर आप गलत रास्ते पर भी जा रहा हैं तो जाने दे. अच्छी दोस्ती वों हैं जिसमें अगर आपको दोस्त के लिए उसके भले के लिए लड़ना भी पड़ रहा हैं तो वों लड़ रहा हैं. जो दोस्त के बारे में सोचता हैं दोस्ती उसकी की सालों सालों तक रहती हैं. रिलेशनशिप एक ‘Living Thing’ हैं बिलकुल एक पौधे के तरह हैं जिसे रोज पानी देना होता हैं. उसी तरह रिलेशनशिप  में mentally prepared रहें तभी हर Situation को अच्छे तरीके से संभाल पाएंगे.

अगर आप अधिक खुश हैं तो Committment  ना करें और अधिक दुखी है तो तो कोई decision ना ले.

प्रमुख बिंदु:-

जिनकी लाइफ होती हैं खुश.

जिनकी लाइफ होती हैं Frustrate.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here