सरकार ने कहा है कि रेलकर्मी या रेलवे कर्मचारी पहली बार अब LTC (लीव ट्रैवल कंसेशन) का फायदा उठा सकते हैं. कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) ने 27 मार्च को जारी सर्कुलर में कहा कि वर्तमान एलटीसी निर्देशों के अनुसार, भारतीय रेलवे में कार्यरत सरकारी कर्मचारी और उनके जीवनसाथी LTC सुविधा के हकदार नहीं हैं क्योंकि उन्हें ‘मुफ्त पास’ सुविधा उपलब्ध है. हालांकि सातवें वेतन आयोग ने सिफारिश की है कि उन्हें भी एलटीसी के दायरे में शामिल किया जाना चाहिए.

एलटीसी का फायदा मिलेगा  4 साल में एक बार

मंत्रालय ने कहा कि रेल मंत्रालय की सलाह से इस विभाग ने इस पर विचार किया. यह निर्णय लिया गया कि रेलवे कर्मचारियों को 4 साल में एक बार पूरे भारत में एलटीसी का लाभ उठाने का मौका दिया जाए. मंत्रालय ने कहा कि पूरे भारत में एलटीसी रेलकर्मियों के लिए पूरी तरह से वैकल्पिक होगी. हालांकि, रेल कर्मचारी रेलवे सेवा पास नियमों से संचालित होते रहेंगे और उनके द्वारा सीसीएस (एलटीसी) नियमों के तहत पूरे भारत में  LTC (लीव ट्रैवल कंसेशन) का लाभ पास नियमों के संबंधित प्रावधानों के तहत विशेष आदेश के जरिये उठाया जा सकेगा.

ऐसे में नहीं मिलेगा एलटीसी का लाभ

हालांकि वे ड्यूटी पास, स्कूल पास और मेडिकल आधार पर विशेष पास सहित अन्य प्रकार के पास के लिए योग्य बने रहेंगे. इसमें कहा गया कि अगर रेलकर्मी विशेष पास का लाभ उठा चुके हैं तो उस साल उन्हें एलटीसी का लाभ नहीं मिलेगा. दूसरी तरफ जानकारों का यह भी मानना है कि इस योजना के लागू होने के बाद रेलवे में कर्मचारियों को मिलने वाली प्रिविलेज पास की सुविधा समाप्त की जा सकती है.

रियायत को लेकर अभी स्थिति साफ नहीं

दूसरे केंद्रीय संस्थानों में ट्रेन में सफर करने के लिए पास के बदले प्रति वर्ष राशि के रूप में एलटीसी (छुट्टी यात्रा रियायत) मिलती है. एलटीसी योजना के तहत सफर करने के दौरान रेल कर्मियों को कितनी रियायत मिलेगी इस पर अब-तक स्थिति स्पष्ट नहीं की गई है. हालांकि रेलवे के विभिन्न यूनियनों ने एलटीसी योजना का विरोध शुरू कर दिया है. इससे पहले रेलवे की तरफ से 90 हजार रिक्तियों की संख्या को बढ़ाकर 1 लाख 10 हजार करने का ऐलान किया गया.

बढ़ाई गयीं रेल भारतियों  की संख्या

इस बारे में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अपने ट्वीटर हैंडल पर जानकारी शेयर कर बताया कि रेलवे आने वाले महीनों में 20 हजार पदों पर और भर्तियां करेगा. इसमें 9 हजार से अधिक रिक्तियां आरपीएफ और आरपीएसएफ में की जाएंगी. वहीं एल 2 में 10 हजार से ज्यादा अतिरिक्त नौकरियां निकलेंगी. आरपीएफ और आरपीएसएफ के लिए अधिसूचना 19-25 मई 2018 के रोजगार समाचार में प्रकाशित होगी. इस संबंध में भारतीय रेलवे की तरफ से अखबार में भी विज्ञापन प्रकाशित किया गया है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here