अमेरिकी के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नई अंतरिक्ष नीति पर मुहर लगा दी है. इससे 1972 के बाद पहली बार अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री को चाँद पर भेजने का रास्ता साफ हो गया है. नासा चाँद पर की यह नीति अंतरिक्ष एजेंसी नासा को अमेरिकी नागरिकों को पहले चाँद और फिर मंगल पर भेजने की बनाई जा रही है. ट्रम्प सरकार 2025 तक नासा को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन से बाहर लाना चाहती है.

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के 2019 के प्रस्तावित बजट के तहत सोमवार को जारी किया गया, कि अंतरिक्ष स्टेशन के लिए अमेरिकी सरकार के वित्त विभाग को 2025 तक का समय निर्धारित किया है. सरकार वाणिज्यिक विकास को प्रोत्साहित करने और चाँद के लिए लक्ष्य स्थापित करने के लिए और भविष्य में बचत करने के लिए 150 मिलियन डॉलर की राशि निर्धारित करेगी.

नासा ने 1990 के दशक के बाद से लगभग 100 अरब डॉलर कक्षा की परिक्रमा करने पर खर्च किया है. पहला हिस्सा 1998 में शुरू किया गया था, और अगला 2011 में नासा के अंतरिक्ष शटल की सेवानिवृत्ति के साथ ही जटिल रूप से पूरा किया गया था. एमआईटी अंतरिक्ष यात्री प्रोफेसर डेवा न्यूमैन, जो बराक ओबामा के उप-नासा प्रमुख थे, ने अंतरिक्ष स्टेशन को “अंतरिक्ष अन्वेषण की आधारशिला कहा ” लेकिन उनका कहना है ट्रम्प प्रशासन का प्रस्ताव समझ में आता है क्योंकि वह दीर्घकालिक योजना बना रहे है.

ट्रंप ने सोमवार को इस नीति पर हस्ताक्षर किए. उन्होंने कहा, मैं जिस दिशा-निर्देश पर हस्ताक्षर कर रहा हूँ वह अमेरिकी अंतरिक्ष कार्यक्रम में इंसानों के जरिए अन्वेषण और नयी खोज पर बल देगा.

अमेरिकी नागरिकों को पहले चाँद और फिर मंगल ग्रह पर भेजने का सोच रही है, ट्रम्प सरकार

यह 1972 के बाद पहली बार अमेरिकी अंतरिक्ष यात्रियों के लंबे समय के लिए चाँद पर जाने और खोज करने के हिसाब से महत्वपूर्ण कदम होगा. इससे पहले अपोलो मिशन के समय 1960 और 1970 में अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री चाँद पर गए थे. ट्रंप ने कहा, इस बार हम झंडा लगाकर सिर्फ अपना निशान नहीं छोड़ेंगे. इस कदम से भविष्य में हम मंगल गृह और अन्य ग्रहों की यात्रा के लिए आगे बढ़ेगे. 21 July 1969 को अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग ने चाँद पर सबसे पहले कदम रखा था. उपराष्ट्रपति माइक पेंस के अनुसार यह नई अंतरिक्ष नीति यह सुनिश्चित करेगी कि अमेरिका एक बार फिर अंतरिक्ष में नेतृत्व करे.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here