ONGC के 46 साल पुराने जहाज मे विस्फोट

ऑइल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन – ONGC, के कोचीन के एक जहाज में विस्फोट यहां मंगलवार को हुआ. इसके बाद उसमें आग लग गई. हादसे में कम से कम 5 लोगों की मौत हो गई. 10 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं. आग काबू कर ली गई है. बताया गया है कि सागर भूषण नाम का यह 46 साल पुराना जहाज है. इसे करीब एक महीने पहले शिपयार्ड में मरम्मत के लिए लाया गया था.

कोच्ची के पुलिस कमिश्नर M.P दिनेश ने बताया ये ब्लास्ट सुबह 11 बजे हुआ. हादसे के वक़्त जहाज मे करीब 20 लोग काम कर रहे थे. मारे गये जख्मी लोगो मे ज्यादातर Daily लेबर और वर्कर थे. उन्होंने आगे कहा आग की वजह से जहाज मे धुआ भर गया. कुछ लोगों की मौत इस वजह से हो गयी. पुलिस कमिश्नर ने बताया घटना के जांच के आदेश दे दिए गये है.

शुरुआती की खबरों में ये बताया गया है कि ONGC के इस जहाज के Water Tank में विस्फोट हुआ

 

ONGC के 46 साल पुराने जहाज मे विस्फोट

शुरुआती की खबरों में ये बताया गया है कि जहाज के Water Tank में विस्फोट हुआ. मारे गए लोगों में 2 केरल के बताए जा रहे हैं. Ship में फंसे दो लोगों को निकाल लिया गया है. कोचीन Shipyard लिमिटेड के स्पोक्सपर्सन ने बताया कि आग लगने के बाद दो शख्स शिप में फंस गए थे, जिन्हें मौके पर पहुंची रेस्क्यु टीम ने बाहर निकाल लिया है.

जख्मी हुए सभी लोगों को स्थानीय हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है. केंद्रीय रोड और Transport Minister नितिन गडकरी ने इस हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के प्रति शोक जताया है. उन्होंने कहा कि उन्होंने कोचीन शिपयार्ड के मैनेजिंग डायरेक्टर से बात की है. जख्मी लोगों को सभी मेडिकल सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं. गडकरी ने इस हादसे की संबंधित एजेंसी से जांच कराने के भी आदेश दे दिए है.

पर बेहतर ये होगा की, इस घटना मे जिनकी भी जाने गयी उनका कोई दोष नही था वे भी बाकि लोगो की तरह रोजाना की तरह काम करने आये थे, सो सरकार कुछ पैसे देकर और दुःख जताने से ज्यादा कुछ और नही कर करेगी. लेकिन करना चहरे तो जो भी कर सकती है तो जल्द से जल्द करे. ताकि आगे होनी वाली घटनाओ मे कम से कम लोगो को नुकसान पहुचे. जो लोग चले गये वापस नही आ सकते पर सरकार उनके परिवार को एक नौकरी जरुर दे ताकि उनके परिवार को और अधिक परेशानी न झेलना पड़े.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here