सारी दुनिया में एचआईवी संक्रमित लोगो की संख्या में तेजी से कमी के बावजूद भी फिलिपिन्स में एचआईवी पॉजिटिव फिलिपिन्स नागरिकों (HIV Positive Philippines) की बढोत्तरी देखी गयी है. एक नवीनतम शोध के मूताबिक मात्र दस साल के दौरान यह दर ३,१४७ प्रतिशत तक बड़ी है. अल जजीरा के द्वारा वहां की सरकार के द्वारा एकत्रित किये गए प्राप्त डाटा के अनुसार, केवल २०१७ में ही ११,००० एचआईवी पॉजिटिव फिलिपिन्स (HIV Positive Philippines) के नए केसेस दर्ज किये गए. जो की २०१६ में ९,२६४ के मुकाबले २० परसेंट ज्यादा है.

ज्यादातर कैथोलिक देशो में परिवार नियोजन को अच्छा नहीं समझा जाता है. परंतू २०१२ में उनके चिकित्सा विभाग ने अपने कानूनों में सुधार करते हूए परिवार नियोजन और सेफ सेक्स के तरीकों के लिये वंहा के लोगो को प्रोत्साहित किया.

जहां तक बाकी दुनियाँ का सवाल है एचआईवी पॉजिटिव फिलिपिन्स (HIV Positive Philippines) की संख्या २०१५ में २.१ मिलियन के मुकाबले २०१६ में १.८ मिलियन पायी गयी.

फिलिपिन्स में एचआईवी में जागरूकता (HIV awareness in the philippines)

देश की बढती हूई जनसँख्या के विषय में वहां के राष्ट्रपति ने एक सार्वजनीक सभा में कहा की वंहा के लोग संतान उत्पत्ति के मामले में बेहद लापरवाह है. “हमारे यंहा परिवार नियोजन के लिये फ्री पिल्स मिलती हैं, आप उनका उपयोग करीये.  हम कम जनसख्या के साथ ज्यादा मेनेजिबल हो सकते है.”  कंडोम के विषय में राष्ट्रपति ने अपना मत व्यक्त करते हुए कहा की, “देखीये मैं यह पन्नी लिपटी हूई मिठाई खा रहा हूँ. क्या यह मुझे बिना पन्नी लिपटी मिठाई की तरह मजा दे सकती है. बिलकुल नहीं, ऐसा ही कंडोम के साथ सेक्स करने पर होता है.” उन्होने परिवार नियोजन के लिये महिलाओं को इंजेक्शन की भी सलाह दी की आप छह माह के लिये एक इंजेक्शन लगवा सकती है.

एचआईवी पॉजिटिव फिलिपिन्स पर उनके दिये बयान पर प्रतिक्रियाए

Human Rights Watch के द्वारा इस बयान की बहुत आलोचना की गयी है. उनके ऊपर आरोप लगाया गया है, की वे वहां की जनता के स्वस्थ हितों के प्रति बेहद लापरवाह है.  कंडोम की आनंद अवरोधक के रूप में आलोचना करने की बजाय उन्हें वंहा की जनता तक कंडोम की पहुंच और उपयोग को बढ़ाने के लिए तत्काल आवश्यक नीतिगत सुधार करने चाहिये. उन्हें फिलीपींस के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए सार्थक कार्य करना चाहिए.

पत्रकार और प्रजनन स्वास्थ्य अधिवक्ता एना सैंटोस ने कहा कि कंडोम के इस्तेमाल के बारे में राष्ट्रपति ने जो कहा है वह विचारहीन एवं गैरजिम्मेदार बयान था. सैंटोस ने अल जज़ीरा को बताया कि कोंडोम के विषय में टिप्पणी हमें बताती है कि वह फिलीपींस में एचआईवी महामारी के बारे में कितना जानते है और यह की कैसे कंडोम इसको फैलने से रोकने के लिए एक विज्ञान सिद्ध विधि है”.

उन्होंने कहा कि एचआईवी महामारी कंडोम को लेकर भय, कलंक और शर्म एवं साथ में यह धारणा की कंडोम सुखद नहीं हैं की वजह से बड रही है.

अल जजीरा को दिए एक बयान में कार्लोस कोंडी, जो की मानवाधिकार संगठन के एक प्रतिनिधि है, ने कहा कि कंडोम की आलोचना करने के बजाय राष्ट्रपति को सार्थक कार्रवाई करनी चाहिए जैंसे कि पहुँच बढ़ाना और उनके उपयोग को प्रोत्साहीत करना. कंडोम तक पहुँच सीमित करने वाली नीतियां सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए एक बड़ा खतरा हैं.  कोंडी ने एक बयान में एचआईवी प्रसार और उच्च मातृत्व मृत्यु दर के विषय पर बोलते हूए यह सब कहा.

अन्य प्रतिक्रियाएं

इस बीच, एचआईवी-एड्स की रोकथाम के समर्थक एक शीर्ष फिलिपिनो अधिवक्ता रॉनीविविन पगटाखान ने अल जजीरा को बताया कि एचआईवी के मामलों में वृद्धि “खतरनाक है. उन्होंने कहा, “यह एक महामारी है,” उन्होंने कहा, उनके द्वारा मनीला में स्वास्थ्य परीक्षण शिविर चलाया जा रहा है, जहां 100-120 लोगों का शिविर में परीक्षण किया जा रहा है और वंहा  8-10 प्रतिशत परीक्षण सकारात्मक आ रहे है.

सीनेटर रिसा हंटिइरॉसस ने कहा कि राष्ट्रपति डाउटरटे को सार्वजनिक स्वास्थ्य की कीमत पर निराधार, लापरवाहीपूर्ण और गैर जिम्मेदाराना बयान देने की बिलकुल जरूरत नहीं है. उन्होने कहा की राष्ट्रपति डाउटरटे आनंद के विषय पर अत्यधिक चिंतित हैं. एचआईवी और किशोर गर्भावस्था के मामलों में वृद्धि में आनंद जैसी कोई भी बात नहीं है.

एचआरडब्ल्यू ने 2016 में ही चेतावनी दी थी कि देश एशिया प्रशांत क्षेत्र में एक बड़ी एचआईवी महामारी के रास्ते पर चल पड़ा है.

एचआरडब्लू ने कहा कि पुरुषों के साथ पुरुषो के यौन संबंध के रूप में एचआईवी के प्रसार में पिछले पांच सालों में दस गुना वृद्धि हुई है. उन्होने ने सरकार पर रोकथाम के उपाय पर्याप्त रूप से लागू करने में असफल रहने का भी आरोप लगाया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक एचआईवी पॉजिटिव फिलिपिन्स (HIV Positive Philippines)के मामलों में बढ़ोतरी के बावजूद,  दुनिया भर में एचआईवी मामले गिरावट आयी है यह आंकडा घट कर २.१  मिलियन से १.८  मिलियन हुआ है.

निष्कर्ष

उम्मीद की जा रही है की तमाम प्रतिक्रियाओ को समझने के बाद वंहा के राष्ट्रिपति अपने द्रष्टिकोण में सुधार करेंगे और देश में तेजी से बढती इस महामारी को रोकने के लिये वहां के लोगो को सही दिशा में चलने के लिये प्रेरित करेंगे और उन्हें सही रास्ता दिखायेंगे. ताकि एचआईवी पॉजिटिव फिलिपिन्स (HIV Positive Philippines) की संख्या नियंत्रीत हो सके.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here