रिपोर्ट और प्रवर्तन निदेशालय के सूत्रों के मुताबिक PNB Scam लकीर पीटकर 5716 करोड़ जब्त किये. कानून प्रवर्तन एजेंसी ने कहा है कि 39 छापा मारे , जिनमे मुंबई मे 10 शामिल है. PNB Scam 5716 करोड़ के साथ साथ ईडी(प्रवर्तन निदेशालय) ने यह भी कहा है कि मार्च 2011 में निर्वाचन आयोग के पहले पत्र (एलओयू) जारी किए गए थे और बाद में इसे शुरू भी  किया गया था. यह भारत में अब तक की सबसे बड़ी PNB Banking Scam  में से एक है. ईडी ने यह भी कहा है कि अब तक नीरव मोदी और अन्य अभियुक्तों को अब तक कोई जवाब नहीं भेजा गया है.

गीतांजलि जेम्स के मेहुल चोकसी को भी शुक्रवार को पेश होने का आदेश दिया गया था क्यूंकि उन्हें  धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की रक्षा नही की और अंतत: कार्यालय से निकालने के लिए कहा जा चुका है. कथित रूप से PNB Banking Scam के तहत आये थे. PNB Scam Banking क्षेत्र में हुए सभी Banking Scam  को पीछे कर दिया है. ईडी भी जांच कर रहा है कि क्यों गोकुल नाथ शेट्टी, पीएनबी के पूर्व उप प्रबंधक को मुंबई में ब्रैडी की शाखा से पदोन्नत या स्थानांतरित नहीं किया गया था.

शेट्टी को उसी शाखा में जारी रहने और सालों के लिए एक ही असाइनमेंट को संभालने की अनुमति दी गई थी. सामान्यतः  प्रत्येक स्केल -1 अधिकारी हर छह महीने में किसी अन्य डेस्क पर स्थानात्रित जाना चाहिए और तीन साल में कम से कम एक बार दूसरी शाखा में स्थानांतरित किया जाना चाहिए. यदि ऐसा होता, तो  PNB Banking Scam नहीं होता. एजेंसी ने जांच की गति पर चिंता व्यक्त की क्योंकि मामले में बाह्य अधिकार क्षेत्र  भी  शामिल है. सोमवार को यह सबसे बड़ी PNB Scam में से एक बन गया और साथ ही साथ PNB Banking latest news भी बन गया.

बैंकिंग क्षेत्र में PNB Banking Scam में 11,400 करोड़ का घोटाला कभी नहीं हुआ

बैंकिंग क्षेत्र में PNB Banking Scam जैसा और 11,400 करोड़ जितना घोटाला कभी नहीं हुआ. इससे न केवल पैसे और पैसे की सुरक्षा के बारे में सवाल उठता है, साथ ही साथ कि यह भी कि घोटाला कैसे हो हुआ. जैसा कि PNB Scam राशि के मामले में इस Scam ने सारे रिकॉर्ड को तोड़ दिये है, बिना किसी उचित निर्देश या नियमों को बिना पालन किये कैसे किया गया?. यह PNB Scam latest news, सभी टेलीविजन पर भी बन गया है.

हर जगह ये बहस खत्म नही हो रही है, सवाल इतने सारे है और तो और कई लोगो को ये भी विश्वास नही हो रहा 11,400 करोड़ की संपत्ति Scam हुई तो  कैसे हुई. हालांकि रिपोर्ट के मुताबिक, प्रवर्तन निदेशालय ने PNB Scam लकीर पीटकर 5716 करोड़ जब्त किए है. फिर भी कोई नही जानता बचे हुए पैसे कब वापस आयेंगे?. इस न्यूज़ के अनुसार बहुत सारे सवाल अभी भी बाकी है. आजकल PNB Scam latest news बन गयी है. ये भी सच है आने वाले दिनों मे दोषियों से कई सारे सवाल पूछे जायेंगे. ये PNB Scam सबसे बड़ा Bank scam है जिसने सारी सीमाएं तोड़ दी है.

PNB Scam की ताजा खबर में, ईडी ने यह भी कहा है निर्वाचक नीरव मोदी को दिए गए उपक्रम जारी बताओ का पहला पत्र मार्च 2011 को दिया गया था. पीएनबी का शेयर बाजार सोमवार तक 10 प्रतिशत तक  की कमी सोमवार तक हुई है. बैंकिंग क्षेत्र न केवल इस घटना के साथ चुस्त हो गया है बल्कि आगामी भविष्य में भी कार्रवाई करता हुआ दिखाई देगा. ये PNB Scam latest news  ने सरकार, सार्वजनिक, अधिकारियों, अधिकारियों, सभी को चौका दिया है. क्या यह PNB Scam इतिहास को हरा देगा? यदि हां, तो कौन जिम्मेदार है?, सरकार, आधिकारिक, या केवल आरोपी?.

यह न केवल एक सवाल है जो हर किसी कोई जनता है

यह न केवल एक सवाल है जो हर किसी कोई जनता है बल्कि आवाज जो कई सालों तक चुप रहा है. ये Scam पहले भी हुए है, लेकिन धन की मदद से अमीर लोग अपने आप को अपने परिवार को किसी ना किसी तरह से बचाते आ रहे है. यदि PNB Scam latest news बन गया है तो इसका कौन दोषी है? क्या यह देश भर के लोगों के लिए एक अच्छा सन्देश जायेगा या बुरा प्रभाव है, केवल बुरा. क्या यह आत्मनिष्ठता पर हमला नहीं है? यह PNB Scam सुरक्षा, आत्म सम्मान, जिम्मेदारी, सब कुछ पर आघात नहीं हैं?

जैसा कि हम सभी को  पता चला है, PNB Scam मे  5716 करोड़ जब्त कर लिया गया. ठीक है, तो फिर ये कदम Scam से पहले क्यों नही लिए गए? बाद में जब हर कोई घोटाले के बारे में जान गया है, यह वाकई सोचनीय है यह कहना जरूरी है कि अब से ये कदम पहले लिए जाये. ताकि कोई भी न्यूज़ आज की इस PNB Scam latest news के रूप में नहीं बन सके. जैसा कि पीएनबी घोटाला न केवल व्यबस्था को हरा रहा है बल्कि आजकल पहला विषय बन गया है. इन प्रकार के Scams को हर एक राष्ट्र के लिए और समाज के लिए हानिकारक है. इसलिए, इसे रोकने के लिए हमे एक होकर कदम उठाना होगा. हर कोई अपनी तरफ से योगदान करे ताकि इन बैंकिंग क्षेत्र को अर्जित धन बचाने के लिए  कहा जाये . ताकि हम PNB Scam जैसे घोटाले रोक सके.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here