‘ज़िंदगी के बारे में बताती शायरियाँ’ –

  • न गम रहा कोई न कोई दर्द ही आज है

हर पल अब तो खुशियों का आगाज़ है,

सीख लिया है जब से धोखे और झूठ का खेल

तब से हर पल जिंदगी का हमारा खुशमिजाज है।

  • जरूरत तक ही अपना बना कर रखती है

वक़्त आने पर ये दुनिया विश्वास तोड़ देती है,

बेवफा तो ये जिंदगी भी है यारों

मौत आने पर ये भी साथ छोड़ देती है।

  • दिल में जो दर्द है उसकी आवाज नहीं आती

लबों पे तुमसे मिलने की फ़रियाद नहीं आती,

जबसे सिखा दिया तुमने जिंदगी जीने का अंदाज हमें

आँख भर तो जाती है मगर बह नहीं पाती।

  • न जी ही पा रहे है, न मौत ही है आती

न जाने दिल में ये कैसी ख्वाहिशें हैं जागी,

ये जिंदगी की राहें हैं, गुमशुदा सी जैसे

न जाने मेरी खुशियाँ है किस ओर को भागी।

  • आगे बढ़ने की जिद, जिंदगी में सबको भगा रही है,

सपनों में दौड़ने वालों को, जिंदगी की ठोकरें जगा रहीं हैं।

  • कभी न बुझती है वो प्यास है जिंदगी

निराशा को मिटाती एक आस है जिंदगी,

मिल जाती है खुशियाँ किसी को जहाँ भर की

तो किसी के लिए हर पल उदास है जिंदगी।

  • जिंदगी के किस्से में न जाने कब मोड़ आता है,

वक़्त आता है तो पत्थर भी पिघल जाता है,

अपने हौसलों और जज्बों को बनाये रखना

जितना संघर्ष हो हुनर उतना ही निखर जाता है।

  • न कोई नियम न क़ानून है,

बस आगे बढ़ने का ही जुनून है,

तू कितनी भी रुकावटें डाल-ए-जिंदगी,

हम न रुकेंगे जब तक हमारी रगों में उबलता खून है।

  • मिली है जिंदगी तो शान से जीते हैं,

खुशियों के जाम हर शाम को पीते हैं,

चेहरे पर मुस्कान देख कर धोखा मत खा जाना

कुछ जख्म भी हैं किस्मत में जिन्हें हम रोज सीते हैं।

  • सिर्फ सांसे चलते रहने को ही ज़िन्दगी नही कहते,

आँखों में कुछ ख़वाब और दिल में उम्मीदें होना जरूरी है।

  • मुझे ज़िन्दगी का इतना तजुर्बा तो नही,

पर सुना है सादगी में लोग जीने नही देते।

  • ज़िन्दगी कभी आसन नही होती इसे आसान करना पड़ता है,

कुछ नजर अंदाज करके कुछ को बर्दाश्त करके।

  • किसी की मजबूरी का मजाक ना बनाओ यारों,

ज़िन्दगी कभी मौका देती है तो कभी धोखा भी देती है।

  • घड़ी की टिक टिक को मामूली न समझो,

बस यूँ समझ लीजिये ‘ज़िन्दगी’ के पेड़ पर कुल्हाड़ी के वार है।

  • जिस दिन आपने अपनी जिन्दगी को खुलकर जी लिया,

वही दिन आपका है, बाकी तो सिर्फ केलेंडर की तारीखें हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here