क्यों बंद किए गए 41 लाख खाते?आखिर ऐसा क्या हुआ की स्टेट बैंक ने 41 लाख बैंक खाते बंद कर दिए?. मिनिमम बैलेंस मेन्टेन नहीं करने पर स्टेट बैंक की सख्ती. इसके फलस्वरूप 41 लाख बैंक खातो को कर दिया बंद. सुचना के अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी में हुआ खुलासा. मौजूदा वित्त वर्ष के अप्रैल-जून में की गई कार्यवाई. मिनिमम बैलेंस पर जुर्माना लगने की वजह से बंद हुए खाते.

मिनिमम बैलेंस मेन्टेन ना करने पर अब कम लगेगा जुर्माना

मिनिमम बैलेंस मेन्टेन ना करने पर अब कम लगेगा जुर्माना. 1 अप्रैल से जुर्माने का 75% तक घटने का आया अहम फैसला. तो लोग अब चैन की नींद ले सकते हैं. अब आपको इस बात की चिंता नहीं करनी पड़ेगी की आपको कितना बैलेंस मेन्टेन करना है कितना नहीं. पर इस बात का भी ध्यान रहे 25% पैसे अभी भी कटेंगे. ये रकम छोटी होगी. कोशिश यही करे बैंक में मिनिमम बैलेंस मेन्टेन करके रखें. इसमें सभी की भलाई होगी.

ताकि अगर किसी परेशानी में या पैसे की जरुरत हो तो आप उसे बैंक से निकल सके और अपने  अपने जरुरी काम को पूरा कर सके. ये सुविधा स्टेट बैंक ने अपने धारकों को दी हैं. क्या इससे परेशान धारकों को राहत मिलेगी या नहीं. ये देखने योग्य होगा क्या होता हैं क्या नहीं?. इतना तय पैसे कम कटने से उन्हें ये तस्सली हो जाएगी की अब पैसे उतने नहीं कटेंगे जितने पहले कटते थे.

भारतीय स्टेट बैंक ने मंगलवार को बचत खाते

भारतीय स्टेट बैंक ने मंगलवार को बचत खाते में मिनिमम बैलेंस न रखने पर लगने वाले चार्ज को 75 फीसदी तक घटाने का एलान किया. अर्बन इलाके के लिए मिनिमम बैलेंस चार्ज 50 रुपये से घटाकर 15 रुपये जबकि semi-urban और ग्रामीण इलाकों में मिनिमम बैलेंस चार्ज 40 रुपये मासिक से घटाकर 12 रुपये और 10 रुपये मासिक किया गया है.

दिल्ली-मुंबई जैसे मेट्रो शहरों में मौजूदा समय में आपको 3 हजार रुपये का मिनिमम बैलेंस अपने खाते में बनाए रखना पड़ता हैं, जबकि अर्द्ध शहरी शाखाओं में अकाउंट होने पर आपको 2 हजार रुपये मिनिमम बैलेंस रखना पड़ता हैं. ग्रामीण इलाकों में एक हजार रुपये मिनिमम बैलेंस के तौर पर खाते में बनाए रखना होता है. मेट्रो शहरों में अगर आप 50 फीसदी से कम मिनिमम बैलेंस बनाए रखते हैं, तो मौजूदा समय में आपको 30 रुपये प्लस जीएसटी देना होता हैं. इसके हिसाब से आपको 30 रुपये प्लस 5.4 रुपये के जीएसटी के तौर पर देने होंगे.

प्रमुख बिंदु इस प्रकार हैं:-

  • स्टेट बैंक ने 41 लाख खाते किए बंद.
  • मिनिमम बैलेंस मेन्टेन न करने की वजह से उठाया अहम फैसला.
  • सारे नियम होंगे 1 अप्रैल से लागू.
  • 75% तक नहीं लिए जाएंगे पैसे.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here