सुसाइड नोट में निकला नरेन्द्र मोदी का नाम
सुसाइड नोट में निकला नरेन्द्र मोदी का नाम

ये कही और नही महाराष्ट्र में हुआ है. किसान ने सुसाइड नोट नरेन्द्र मोदी सहित कई अन्य लोगों का नाम लिखा है. इसके बाद किसान ने जहर खाकर अपनी जान दे दी. सुसाइड नोट में अगर वजह की बात करें तो सारा जिम्मा नरेन्द्र मोदी और सरकार पर लगाया गया है. अपने इस क्रूर कदम उठाने के साथ-साथ किसान ने अपने परिवार के लिए सरकार से मदद मांगी है.

अगर बात मृतक की करें तो यवतमाल जिले के rajurwadi गॉव के इस व्यक्ति की पहचान शंकर भाऊराव के रूप में हुई है. इस जिले में कृषि क्षेत्र में सबसे अधिक मारने वाले किसान यही के है. खुदखुशी के 12 घंटे बाद तक भी उनके शवो को उनके परिवारजनों ने लेने से मना कर दिया गया. परिवार जनों का कहना है प्रधानमंत्री उनसे मिलने आए और सारा मुआवजा देकर फिर उनका शव वो लेंगे. कहा जा रहा है की व्यक्ति ने पहले रस्सी लगाकर खुदखुशी करने की कोशिश की लेकिन रस्सी टूट गई. उसके तुरंत बाद वो जहर खाए और अचेत लेट गये.

क्या लिखा था चिट्ठी में ?

रिपोर्ट की माने तो चायेरे को उनके हाथ से मुड़ी हुई एक चिट्टी मिली जिसमे ये लिखा था की “कैसे उन्होंने सरकारी दफ्तर संसद,विधायक सबलोगों से मदद मांगी लेकिन किसी ने उनकी मदद नही की”. उन्होने ये भी लिखा है उनके पास 9 एकड़ की जमीन है. कपास की खेती के लिए उन्होने 90 हजार की सहकारी समिति से लोन लिया था. साथ ही साथ निजी स्तर पर उन्होंने 3 लाख रुपए का लोन लिया हुआ है. उन्होंने लिखा था एक तो रोग के कारण  सारे फसल नष्ट हो गये जिसके साथ ही साथ कर्ज चुकाना उनके लिए खासा मुश्किल हो गया था.

उन्होने ये भी लिखा की “मेरे ऊपर बहुत बड़ा कर्ज का बोझ है इसलिए मैं खुदखुशी कर रहा हूँ”. नरेन्द्र मोदी सरकार इसकेलिए जिम्मेदार है. क्या बढ़ती सुसाइड को लगाम नही लगाया जा सकता है. कौन लगाएगा इन सबपर लगाम. कुछ तो उपाय होगा. जिससे इनपर लगाम लग सके. वरना आए दिन ऐसे सुसाइड बढ़ते चले जाएंगे. चन्द मुआवजे देकर सरकार पल्ला तो झाड़ लेगी लेकिन इनकी जिन्दगियाँ कभी वापस आ पाएंगी भी या नही बोलिए.

अगर जिंदगी वापस नही आएगी तो फिर इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा बोलिए?. सरकार को जल्द ही कुछ ऐसा उपाय करना होगा जिससे इन्हें बंद किया जा सके. किसान इस देश की आन बान और शान है. इस तरह का सलूक कम से कम सरकार तो ऐसा बिलकुल ही ना करें.

प्रमुख बिंदु :-

सुसाइड नोट में निकला मोदी का नाम.

क्या मोदी जी सीआई दी बुलाएँगे?.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here