होम टैग्स Holi poem

टैग: Holi poem

तूं आजा माहि खेल जा दिल से होली

      जस्वातों के समंदर में हसरतों की लहरें उठना लाज़मी है, ये लहरें किनारों के लबों को चूम तो सकती हैं, बशर्ते वक्त की हवाओं का साथ...

MOST POPULAR

HOT NEWS