नवाज शरीफ के घर के पास एक चेकपोस्ट पर तालिबान के फिदायीन हमले में 5 पुलिसवालों समेत 9 लोगों की मौत हो गई। 14 पुलिसवालों समेत 25 लोग जख्मी हो गए। अफसरों की मानें तो चेकपोस्ट शरीफ परिवार के घर से कुछ किमी ही दूर था। चेकपोस्ट के पास ही एक धार्मिक समारोह भी चल रहा था।

किशोर था हमलावर
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हमला बुधवार रात को हुआ। इसके सुसाइड अटैक होने की पुष्टि पंजाब के आईजी आरिफ नवाज ने की है। उनके मुताबिक, एक किशोर हमलावर ने चेकपोस्ट के पास खुद को उड़ा लिया। मारे गए लोगों में 2 इंस्पेक्टर समेत 5 पुलिसकर्मी हैं। जख्मी पुलिसवालों में 4 की हालत गंभीर है।
– लाहौर के डीआईजी डॉ. हैदर अशरफ ने बताया कि हमलावर के निशाने पर पुलिस जवान थे, इसलिए उसने चेकपोस्ट के पास ही ब्लास्ट किया। हमलावर की बॉडी बरामद कर ली गई है। चेकपोस्ट के पास ही तबलीगी सेंटर में धार्मिक समारोह भी चल रहा था।
– अफसरों का ये भी कहना है कि धमाका इतना जोरदार था कि इसकी आवाज कई किलोमीटर दूर तक सुनाई दी।
– कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया है कि तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने हमले की जिम्मेदारी ली है। इसी संगठन ने पुलिस पर हमले करने की चेतावनी दी थी।

जख्मी पुलिसकर्मी ने बताया आंखों देखा हाल
– जख्मी पुलिसकर्मी आबिद हुसैन ने बताया, “मैंने देखा कि एक लड़का वेन्यू में घुसने की कोशिश कर रहा था। जब हमने उसे रोकने की कोशिश की तो उसने खुद को उड़ा लिया।”
– ये हमला उस वक्त किया गया है जब एक हफ्ते बाद लाहौर में पाकिस्तान सुपर लीग का सेमीफाइनल मैच होना है। डीआईजी अशरफ कहते हैं कि मैच के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।
– पाक रेंजर्स तुरंत मौके पर पहुंचे और पूरे इलाके को घेर लिया गया है।

राष्ट्रपति ने की हमले की निंदा
– पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने हमले की निंदा की है। उन्होंने कहा कि इन कायरतापूर्ण कामों से सरकार के आतंकवाद से लड़ने का जज्बा कमजोर नहीं पड़ेगा।
– वहीं, पंजाब के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ ने पुलिस से हमले की रिपोर्ट मांगी है।
– इस साल लाहौर में ये पहला हमला है। बीते साल लाहौर में कई हमले हुए थे, जिनमें 60 से ज्यादा लोग मारे गए थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here