घोटाले किसी भी लोकतंत्र का स्वास्थ्य इस बात पर निर्भर करता है कि उसके तीनों अंगों-विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका के बीच संबंध कैसे हैं और इन तीनों में जवाबदेही बची है या नहीं. आज भारत की दशा भी इन्ही दो कारकों पर आंकी जा सकती है. पिछले साल भारत में भ्रष्टाचार और घोटालों का बोलबाला रहा. ऐसा लगा, जैसे भारत में घोटाले नहीं, घोटालों में भारत है. आम जनता जहां महंगाई से बदहाल हुई जा रही है, वहीं हमारे नेता और सरकारी अफ़सर नियमों को ताक पर रखकर बेशर्मी से जनता का पैसा दबाए जा रहे हैं. देखने में आया कि भारतीय प्रजातंत्र के तीनों अंग आपस में ही लड़ते रहे.

जब बात की जाये बैंक घोटालो की तो एक रिपोर्ट सामने आई है, इस रिपोर्ट के अनुसार साल 2017 में पहले नौ महीने में आईसीआईसीआई बैंक में धोखाधड़ी के करीब 455, स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया में 429, स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक में 244 और एचडीएफ़सी बैंक में 237 मामले पकड़े गए. ये सभी मामले एक लाख रुपये या इससे ज़्यादा के थे. रिपोर्ट कहती है कि धोखाधड़ी के ज़्यादातर मामलों में बैंक कर्मचारियों की मिलीभगत थी. यह रिपोर्ट 2018 तक आते आते और बड़ गयी है.

आइये जानते है भारत के 5 बड़े सबसे बड़े घोटालो के बारे में.

PNB Scam (Scandal)

भारत के 5 सबसे बड़े बैंक घोटाले
टॉप 5 सबसे बड़े बैंक घोटाले बाज.

नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक से करीब 11,300 करोड़ रुपये के लोन से जुड़े केस में फंसे हुए हैं. बैंक का दावा है कि नीरव, उनके भाई निशाल, पत्नी अमी और मेहुल चीनूभाई चोकसी ने बैंक के अधिकारियों के साथ साज़िश रची और उसे नुकसान पहुंचाया. ये सभी डायमंड आर यूएस, सोलर एक्सपोर्ट और स्टेलर डायमंड्स में पार्टनर हैं. इस घोटाले को देश में अब तक का सबसे बड़ा बैंक घोटाला बताया जा रहा है.

 किंगफिशर घोटाला (Scandal)

भारत के 5 सबसे बड़े बैंक घोटाले
भारत के 5 सबसे बड़े बैंक घोटाले

विजय माल्या, जो कि पहले किंगफिशर एयरलाइंस के प्रमुख थे, पर आईडीबीआई और अन्य इंडियन बैंक का 9,000 करोड़ रुपए का बकाया है. उन पर आरोप है कि वो लोन डिफॉल्ट के संबंध में कानूनी कार्यवाही से बचने के लिए भारत से भाग गए थे. विजय माल्या पर आरोप है कि उन्होंने एसबीआई के नेतृत्व वाले 17 बैंक्स के कंसोर्टियम से जो पैसा उधार लिया था, उसे सात देशों में शेल कम्पनीज के जरिए ट्रांसफर किया. इन देशों में अमेरिका, इंग्लैंड, फ्रांस, आयरलैंड शामिल हैं.

सत्यम घोटाला (Scandal)

रामलिंगा राजू द्वारा कम्पनी के लाभ को प्रतिवर्ष बढ़ा-चढ़ा कर प्रस्तुत किया जाता.

भारत के 5 सबसे बड़े बैंक घोटाले
भारत के 5 सबसे बड़े बैंक घोटाले

लेकिन इस प्रगति का राज 7 January 2009 को लोगों के सामने आ गया, जब कंपनी के संस्थापक और चैयरमैन राजू ने अपना पद परित्याग कर दिया. निदेशकमंडल और सेबी को लिखे अपने पत्र में उन्होंने लिखा कि वर्षों से कंपनी की वित्तीय स्थिति खराब चल रही है. बाजार में कंपनी की प्रतिष्ठा बनाए रखने के लिए वर्ष प्रति वर्ष उन्होंने कंपनी को लाभ में दिखाया. जिसके लिए कंपनी के खातों में हेर-फेर की गई.

 

सहारा ग्रुप घोटाला (scandal)

भारत के 5 सबसे बड़े बैंक घोटाले
भारत के 5 सबसे बड़े बैंक घोटाले

26 फरवरी 2014 को, भारत के सुप्रीम कोर्ट ने सहारा इंडिया परिवार के अध्यक्ष और संस्थापक सुब्रत रॉय को गिरफ्तार करने का आदेश दिया था. अदालत ने पाया की भारतीय बाजार नियामक सेबी (सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया) के साथ कानूनी विवाद के बाद, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक उनकी कंपनी 24,000 करोड़ रुपये की जमा राशि अपने निवेशकों को वापस करने में असफल रही. उन्हें 28 फरवरी 2014 को गिरफ्तार किया गया था. बाद में मई 2016 में उन्हें पैरोल पर छोड़ा गया. इसके बाद वो अब तक जमानत पर हैं.

शारदा चिटफण्ड घोटाला (scandal)

भारत के 5 सबसे बड़े बैंक घोटाले
भारत के 5 सबसे बड़े बैंक घोटाले

शारदा चिट फंड घोटाला एक प्रमुख वित्तीय घोटाला था और 200 से अधिक निजी का एक समूह, जो कि सामूहिक निवेश योजनाओं को चलाना था, लेकिन लोकप्रिय रूप से चिट फंड के रूप में जाना जाता है, का एक समूह, सरदा ग्रुप द्वारा चलाए गए एक पोंजी स्कीम के पतन के कारण कथित राजनीतिक घोटाला था. पूर्वी भारत में. 4 अप्रैल 2013 में गिरने से पहले यह समूह 1.7 मिलियन से अधिक जमाकर्ताओं से 200 से 300 अरब या 4 – 6 अरब अमेरिकी डॉलर के आसपास एकत्र हुआ.

देश छोड़ फरार भी हुए ये स्कैम के फ्रोड्स

एक समाचार एजेंसी ने अधिकारियों के हवाले से बताया कि 280 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में सीबीआई को पीएनबी की शिकायत 29 जनवरी को मिली थी. उन्होंने बताया कि सीबीआई ने पीएनबी की शिकायत के बाद चारों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कर ली है और उनकी तलाश के लिए लुक आउट नोटिस जारी किए गए हैं. नीरव मोदी के बारे में माना जा रहा है कि वो फिलहाल स्विटज़रलैंड में हैं. तो वही विजय माल्या भी देश को काफी पहले छोड़ चुके है.

ये देश के वे घोटाले है , जिन्होंने आर्थिक रूप से देश को हिला के रख दिया है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here