बॉलीवुड के और भी कुछ खास सेलेब्‍स पर्दे पर चमकने से पहले इंडस्‍ट्री के बाहर कौन सी जॉब करते थे. “जहां चाह है वहां राह है” यह कहावत आपने कई बार सुनी होगी. आज हम कुछ ऐसे कलाकारों के बारे में बात करने वाले हैं जिन्होंने इस कहावत को सच करके दिखाया है. ऐसा कई बार होता है कि हमारे पास दो विकल्प होते हैं. हमें उन्हीं में से किसी एक को चुनना होता है. एक विकल्प में सुनहरे भविष्य के सपने होते हैं, जैसे अच्छी नौकरी और संतुष्ट जीवन. दूसरे में थोड़ा रिस्क होता है. जी हां। सपनों को हकीकत में बदलने का रिस्क. फिल्म इंडस्ट्री में ऐसे कई नाम हैं, जिन्होंने शून्य से शुरुआत की और चर्चित हो. आइए जानें ऐसे ही कुछ सितारों के बारे में.

दीपिका पदुकोण

दीपिका पदुकोण बताती हैं, अगर मैं एक्ट्रेस नहीं होती तो निश्चित तौर पर बैडमिंटन प्लेयर होती. मेरे पिता प्रकाश पादुकोण बैडमिंटन के जाने-माने खिलाड़ी हैं लिहाज़ा उनके पदचिन्हों पर चलते हुए मैं एक फेमस बैडमिंटन प्लेयर बनना चाहती थी. इसके लिए मैंने बैडमिंटन ट्रैनिंग भी ली और नेशनल लेवल तक खेला भी. लेकिन बाद में मुझे मॉडलिंग के ऑफर मिलने लगे, फिर शाहरुख़ खान के अपोजिट ओम शांति ओम के जरिये मैं बॉलीवुड में आ गई.

सनी लियोनी

नहीं हम, सनी के बतौर एडल्‍ट स्‍टार के दिनों की बात नहीं कर रहे हैं. इससे पहले कि सनी अपने लिए एक बोल्‍ड कॅरियर का चुनाव करतीं, वह एक जर्मन बेकरी में काम करती थीं. उसके बाद कुछ दिन उन्‍होंने टैक्‍स और रिटायरमेंट फर्म में भी काम किया. सनी का कहना है कि अगर मैं एक्ट्रेस नहीं होती तो निश्चित रूप से बेकरी का बिज़नेस ही कर रही होती या खुद की एक कंपनी लॉन्च करती. लेकिन ऐसा कुछ नही हुआ और मैं पोर्न स्टार और अब बॉलीवुड स्टार बन गई हूँ.

करीना कपूर

करीना कहती हैं, एक्ट्रेस बनने के पहले मैं वकील बनना चाहती थी. इसके लिए मैंने 1 साल तक वकालत की पढ़ाई भी की. लेकिन तक़दीर को तो कुछ और ही मंजूर था, इसलिए मैं वकील बनने की बजाय एक्ट्रेस बन गयी. जे पी दत्ता की फ़िल्म रिफ्यूजी जब मुझे ऑफर हुई तो मेरा रुझान फिल्मों की तरफ ज्यादा हो गया. चाहे रिफ्यूजी ज्यादा न चली हो, लेकिन इस फिल्म के बाद मुझे पलट कर नहीं देखना पड़ा.

जैकलिन फर्नांडिज

पूर्व ब्‍यूटी क्‍वीन जैकलिन के भूतकाल के बारे में सुनकर तो आप वाकई चौंक जाएंगे. दरअसल मॉडलिंग और एक्टिंग में आने से पहले जैकलिन श्रीलंका में टीवी रिपोर्टर थीं. रिपोर्टर होने के साथ वह कई राजनीतिक खबरों और राजनीतिक उतार-चढावों को कवर भी करती थीं.

नवाजुद्दीन सिद्दीकी

आर्थिक हालत ठीक नहीं होने के कारण इस एक्टर ने तो दिल्ली के शाहदरा में रात में चौकीदारी का काम कर लिया और एनएसडी में अपने ऐक्टिंग के हुनर को मांजने लगा. उसने 1996 में एनएसडी से अपनी शिक्षा पूरी की. साइंस में ग्रेजुएशन के बाद नौकरी मिलना आसान न था. नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने कई जगह कोशिश की तो केमिस्ट की नौकरी मिल गई. लेकिन इनकी किस्मत को तो कुछ और ही मंजूर था. इसे नवाजुद्दीन सिद्दीकी की मेहनत ही कहेंगे कि आज इनकी एक्टिंग की मिसाल दी जाती है.

रणवीर सिंह

हाजिरजवाब, हंसमुख और बेहद ऊर्जावान माने जाने वाले रणवीर की एक्टिंग और एक्शन भी बेमिसाल है. लेकिन एक्टर बनने से पहले वे विज्ञापन जगत में कलम घिस रहे थे. रणवीर ने कई बड़ी एड कंपनियों के लिए कॉपीराइटर का काम किया है.

अमिताभ बच्चन

महानायक अमिताभ बच्चन की जिंदगी भी संघर्षों से भरी हुई थी. आपको शायद पता नहीं होगा कि जब अमिताभ बच्चन इलाहाबाद से मुंबई आए थे तो उनके पास रहने की भी जगह नहीं थी,कई रातें उन्होंने मरीन ड्राइव की बेंचों पर बिताई थी. यहीं नहीं अमिताभ बच्चन इंजीनियर बनना चाहते थे और इंडियन एयर फोर्स में जाना उनका सपना था. अमिताभ बच्चन की पहली सैलरी करीब 300 रुपये थी.

अरशद वारसी

17 साल की उम्र में आर्थिक परिस्थितियों से जूझते हुए अरशद वारसी ने डोर-टू-डोर कॉस्‍मेटिक्‍स सेल्‍समैन का काम शुरू किया. इसके साथ ही वह एक फोटो लैब में भी काम करते थे. डांस उनकी पसंद होने के कारण उन्‍होंने अपना खुद का डांस स्‍टूडियो भी खोला और एक डांस ट्रूप भी तैयार किया. यहीं पर वो मारिया गोरेती से भी मिले, जिनसे बाद में चलकर इनकी शादी हो गई. इनको सबसे पहले फ‍िल्‍म ‘रूप की रानी चोरों का राजा’ के टाइ‍टल ट्रैक को कोरियोग्राफ करने का मौका मिला. इसके बाद इन्‍हें बॉलीवुड में एक्टिंग के लिए ब्रेक अमिताभ बच्‍चन की प्रोडक्‍शन कंपनी के अंतर्गत बनने वाली फ‍िल्‍म ‘तेरे मेरे सपने’ से 1996 में मिला.

अक्षय कुमार

ताइक्‍वांडो में ब्‍लैक बेल्‍ट लिए खिलाड़ी कुमार एक्टिंग में आने से पहले बैंगकॉक में शेफ और वेटर थे. मुंबई लौटने के बाद इन्‍होंने यहीं मार्शल आर्ट सिखानी शुरू कर दी. यहां से इनके अच्‍छे लुक्‍स के कारण इनको कुछ मॉडलिंग असाइनमेंट्स भी मिल गए और जल्‍द ही इन्‍होंने फ‍िल्‍मों में बतौर एक्‍टर एंट्री कर ली.

रजनीकांत

काफी विनम्र पृष्ठभूमि से होने के कारण साउथ के इस सुपरस्‍टार को बॉलीवुड में आने से पहले कई मेहनत वाले काम करने पड़े. परिवार और खुद की आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए उन्‍होंने बतौर कुली और बतौर बढ़ई भी काम किया. इसके बाद इन्‍होंने बैंगलोर में बतौर बस कंडक्‍टर ट्रांसपोर्ट सर्विस को भी ज्‍वाइन किया. इसके बाद इन्‍हें एक्टिंग करने और पर्दे पर नजर आने का बहुत शौक था, सो काफी मेहनत के बाद आ गए वो बॉलीवुड इंडस्‍ट्री में.

जॉन अब्राहम

जॉन ने शुरुआत में एक मीडिया फर्म ज्‍वाइन की, जो कुछ आर्थिक कारणों के चलते कुछ ही दिनों बाद बंद हो गई. इसके बाद इन्‍होंने मुंबई में बतौर मीडिया प्‍लानर एक विज्ञापन एजेंसी ज्‍वाइन की. इसके बाद कहीं जाकर इन्‍हें मौका मिला मॉडलिंग और एक्टिंग का.

आर माधवन

‘3 Idiots’ में से एक एक्‍टर और साउथ के सुपरस्‍टार माधवन बहुत अच्‍छे वक्ता हैं. इसी कारण से एक्टिंग से पहले इन्‍होंने एक बहुत छोटा सा बिजनेस शुरू किया. ये था कम्‍यूनिकेशन और पब्लिक स्‍पीकिंग पर वर्कशॉप को आयोजित करवाने के लिए वर्कशॉप का आयोजन करवाना. बताते चलें कि स्‍नातक पूरा करने के बाद ही इन्‍होंने ये काम शुरू कर दिया था.

बमन ईरानी

हिंदी फ‍िल्‍मों में एक लेट, लेकिन बेहतरीन एंट्री हुई, वह हुई सुपर टैलेंटेड बमन ईरानी की. बमन एक्टिंग में आने से पहले मुंबई के एक पांच सितारा होटल में वेटर थे. इसके साथ ही वह यहां रूम सर्विस स्‍टाफ का भी काम संभालते थे. इसके बाद इन्‍होंने अपनी मां की भी मदद की उनकी बेकरी का काम चलवाने में.

जॉनी लीवर

बॉलीवुड के बेहतरीन कॉमेडियंस में से एक जॉनी ने आर्थिक तंगी के चलते अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी. अपने परिवार को सपोर्ट करने के लिए उन्‍होंने मुंबई की सड़कों पर पेन बेचने शुरू कर दिए, लेकिन वो ये पेन बॉलीवुड स्‍टार्स की नकल उतारकर एक अनोखे अंदाज में बेचते थे. यहीं से उनका टैलेंट बॉलीवुड के कुछ लोगों को समझ में आया और उन्‍होंने जॉनी को बुला लिया इंडस्‍ट्री में.

और भी ऐसे कई स्टार्स है जिन्होंने अपने शुरुआती दौर में नौकरियां कि हैं और आज जा के बॉलीवुड के बड़े स्टार्स है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here